scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: अग्निपथ योजना बंद नहीं हो रही है, ये वीडियो फर्जी है

इंडिया टुडे की फैक्ट चेक टीम ने पाया कि ये वीडियो फर्जी है. ऐसी कोई खबर किसी चैनल पर नहीं दिखाई गई है. अग्निपथ योजना को वापस लिए जाने की बात सरासर झूठ है. रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने ‘आजतक’ से बातचीत में इस बात की पुष्टि की है.

X
अग्निपथ योजना को लेकर एक वीडियो वायरल किया जा रहा है. अग्निपथ योजना को लेकर एक वीडियो वायरल किया जा रहा है.

सोशल मीडिया पर एक कथित न्यूज बुलेटिन का वीडियो काफी वायरल हो रहा है जिसे कुछ लोग शेयर कर रहे हैं और कह रहे हैं कि अग्निपथ योजना को सरकार ने वापस ले लिया है. और अब सेना की भर्तियां पुराने नियम के हिसाब से ही होंगी.

वीडियो में ये भी कहा गया है कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने युवाओं से अब आंदोलन बंद करने का अनुरोध किया है.

इस वीडियो में बड़े-बड़े अक्षरों में ‘ब्रेकिंग न्यूज’ और ‘लाइव’ लिखा है. साथ ही, न्यूज फ्लैश हो रही है, ‘अग्निपथ योजना में हुआ बड़ा बदलाव, आज की मीटिंग हुई समाप्त अग्निपथ योजना पर, आज की मीटिंग के बाद लिया गया बड़ा फैसला, गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा आर्मी रैली भर्ती पहले की तरह ही होगी, अग्निपथ भर्ती नहीं होगी, अभी युवा आंदोलन न करें, आपकी बात का ध्यान में रखा जाएगा और आपके पक्ष में ही लिया जाएगा फैसला’.  

इंडिया टुडे की फैक्ट चेक टीम ने पाया कि ये वीडियो फर्जी है. ऐसी कोई खबर किसी चैनल पर नहीं दिखाई गई है. अग्निपथ योजना को वापस लिए जाने की बात सरासर झूठ है. रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने ‘आजतक’ से बातचीत में इस बात की पुष्टि की है.

कैसे पता लगाई सच्चाई?  

वायरल वीडियो में ऐसी कई बातें हैं जिनसे इसके नकली होने का शक पैदा होता है. इसमें किसी चैनल का लोगो नहीं है.

एक जगह इसमें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को ‘गृह मंत्री’ बताया गया है. जाहिर है, किसी असली खबर में इतनी बड़ी गलती होने की संभावना बेहद कम है. 

हमने आर्मी, एयरफोर्स और नेवी की आधिकारिक वेबसाइट्स को ठीक से देखा. तीनों ही जगह अग्निपथ योजना का विस्तार में ब्योरा दिया गया है. कहीं भी इसे वापस लिए जाने का कोई जिक्र नहीं है.

अग्निपथ


डिफेंस मिनिस्ट्री की वेबसाइट में भी अग्निपथ योजना वापस लिए जाने के बारे में कुछ नहीं लिखा है. प्रेस इनफॉरमेशन ब्यूरो ने भी इस वीडियो में दी जा रही जानकारियों को गलत बताया है.

 
अग्निपथ योजना की घोषणा 14 जून को की गई थी. इस योजना के तहत भारतीय वायु सेना के पास 7 लाख से भी ज्यादा आवेदन आए हैं.

हमारी पड़ताल से ये बात साबित हो जाती है कि एक नकली वीडियो के जरिये अग्निपथ योजना को वापस लिए जाने का झूठ फैलाया जा रहा है. 

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

सरकार ने अग्निपथ योजना को वापस ले लिया है. अब सेना की भर्तियां पुराने नियम के हिसाब से होंगी.

निष्कर्ष

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने इस वीडियो को फर्जी बताया है. अग्निपथ योजना को वापस लिए जाने का कोई निर्णय नहीं लिया गया है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें