scorecardresearch
 

सोनू सूद को कैसे आया प्रवासी मजदूरों पर किताब लिखने का आइडिया?

e-Mind Rocks 2020: सोनू ने बताया कि इस तरह से उन्हें किताब लिखने का विचार आया. सोनू ने अपने इस सेशन में बहुत सारी नई पुरानी बातें कीं. उन्होंने बताया कि किस तरह कई जगहों पर लोगों ने अपने बच्चों का नाम सोनू सूद रखा है.

सोनू सूद सोनू सूद

कोरोना काल में लोगों के लिए रियल लाइफ हीरो बन चुके बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद प्रवासी मजदूरों और लॉकडाउन के दौरान उनके संघर्ष पर एक किताब लिख रहे हैं जो कि जल्द ही लॉन्च होगी. इंडिया टुडे ई-माइंड रॉक्स में मॉड्रेटर सुशांत मेहता के साथ बातचीत में सोनू सूद ने अपनी इस किताब के बारे में बताया और साथ ही ये खुलासा भी किया कि उन्हें ये किताब लिखने का आइडिया किस तरह आया.

सोनू सूद ने बताया, "मेरी मां मुझसे कहा करती थीं कि हमेशा उन लम्हों को लिखा करो जो तुम्हारी जिंदगी में बहुत खास हों. वो एक प्रोफेसर थीं. मेरे पास अब भी वो डायरीज हैं जो उन्होंने कॉलेज टाइम में लिखीं, टीचर बनने पर लिखीं और तब लिखीं जब वो मां बनीं. वो कहा करती थीं कि ये जो बहुत खास मौके होते हैं इनके बारे में हमें लिखना चाहिए. तो मैंने सोचा कि अब मेरे पास बहुत सारी कहानियां हैं मेरा परिवार बढ़ चुका है, उत्तराखंड, उड़ीसा, बिहार यूपी, असम. तो सोचा क्यों ना उन्हें एक साथ ले आया जाए."

दिलचस्प हैं किताब की कहानियां

सोनू ने कहा, "लॉकडाउन चल रहा है तो लगा लिखना चाहिए. मुझे लगता है कि बहुत सारी दिलचस्प कहानियां हैं मेरे पास शेयर करने के लिए. मुझे लगता है कि आने वाले सालों में लोग जानना चाहेंगे उन लोगों के बारे में जो देश के अलग-अलग लोगों में रहते थे और उन्हें कितना परेशान होना पड़ा था. वो किस तरह वापस आए और हमने उन्हें वापस भेजने में किन चुनौतियों का सामना किया."

दिल बेचारा का BTS वीडियो वायरल, क्रिकेट खेलते दिखे सुशांत सिंह राजपूत

लॉकडाउन में हुई राणा दग्गुबाती की सगाई, एक्टर ने बताया कब होगी शादी

सोनू ने बताया कि इस तरह से उन्हें किताब लिखने का विचार आया. सोनू ने अपने इस सेशन में बहुत सारी नई पुरानी बातें कीं. उन्होंने बताया कि किस तरह कई जगहों पर लोगों ने अपने बच्चों का नाम सोनू सूद रखा है और किस तरह अब वो तमाम लोगों से फोन या किसी और माध्यम के जरिए जुड़े रहते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें