scorecardresearch
 

लॉकडाउन में पहाड़ों को याद कर रहे सिंगर पपोन, तैयार किया है नया गाना

पपोन ने बताया कि उन्होंने इस लॉकडाउन में परिवार के साथ समय बिताया है. उन्होंने खुद को लॉकडाउन स्पेशलिस्ट कहा और बताया कि उन्हें पसंद है शांति में अकेले रहना और संगीत बनाना.

पपोन पपोन

दिग्गज प्लेबैक सिंगर पपोन ने शनिवार को आयोजित इंडिया टुडे ई-माइंड रॉक्स 2020 में शिरकत की. पपोन ने बताया कि उनकी लॉकडाउन लाइफ कैसी चल रही है साथ ही ये भी बताया कि उन्होंने इस दौरान क्या क्या चीजें की है. पपोन ने बताया कि युवाओं को क्या करना चाहिए जिससे वह तनाव से दूर रह सकें.

पपोन ने बताया कि उन्होंने इस लॉकडाउन में परिवार के साथ समय बिताया है. उन्होंने खुद को लॉकडाउन स्पेशलिस्ट कहा और बताया कि उन्हें पसंद है शांति में अकेले रहना और संगीत बनाना. उन्होंने बताया कि इस क्राइसिस ने एक तरह का स्पेस क्रिएट किया है.

"मैंने लॉकडाउन में मैंने बच्चों के लिए बहुत सी कहानियां तैयार की हैं. जहां तक संगीत की बात है तो मैंने एक असमी गाना तैयार किया है जिसका मतलब है 'ये वक्त भी गुजर जाएगा'. लोग थोड़े तनाव में हैं और काम, करियर, पैसे की चिंता में हैं तो मैंने बस कोशिश की कि किस तरह से उन्हें तनाव से दूर और स्वस्थ्य रखा जाए. मुझे लगता है कि हेल्थ और तनाव को दूर रखने के बारे में सोचा जाना चाहिए."

View this post on Instagram

When the soul sings and you realize that just one more day you live to breathe is a blessing in itself! Forever grateful to everyone and everything that keeps me going! 🙏🏼❤️

A post shared by Papon (@paponmusic) on

पपोन ने कहा कि ये कुछ ऐसा है जो कभी नहीं हुआ है. इसलिए आप तमाम नई चीजों के बारे में सोच रहे हैं. भविष्य के बारे में, नई संभावनाओं के बारे में. जहां तक तनाव से दूर रहने की बात है तो पॉजिटिव रहा जाए बस यही तरीका है इससे हैंडल करने का.

लॉकडाउन में क्या कर रहे हैं पपोन?

उन्होंने बताया, मैंने बच्चों के बाल काटने से, खाने बनाने, पोछा लगाने और गार्डनिंग करने तक सब कुछ किया है जो मैं कॉलेज डेज में करता था. जैसे मैं हॉस्टल में करता था.

युवाओं के लिए क्या है संदेश?

इस सवाल के जवाब में पपोन ने कहा, "मुझे लगता है कि अब तक हम इन हालातों के आदि हो गए हैं. मेरे दोस्त मुझसे फोन पर बात करते हैं और कहते हैं कि शुक्रिया हमें सकारात्मकता देने के लिए. मुझे लगता है कि अभी पैसा सब कुछ नहीं है. हमें खुद को बचाए रखना है वो ज्यादा जरूरी है. हमें बस सकारात्मक रहने की जरूरत है. हमें अपने दिमाग में बहुत पॉजिटिव रहने की जरूरत है. क्योंकि अगर आप पॉजिटिव रहेंगे तो आप सही फैसला लेंगे."

View this post on Instagram

Something interesting coming up ...

A post shared by Papon (@paponmusic) on

कैसे दूर करते हैं अपना स्ट्रैस?

इस सवाल के जवाब में पपोन ने कहा कि हर किसी को स्ट्रैस होता है. जहां तक मेरा सवाल है तो मुझसे किसी ने ये सवाल पूछा नहीं है. पर मुझे लगता है कि जब आपको स्ट्रैस होता है तो इसे बस जाने दीजिए. आप अगर इसे सोचते रहेंगे तो आप इसमें गहरे और निगेटिव उतर जाएंगे. इसलिए आप सोचिए क्या आप इस बारे में कुछ कर सकते हैं. अगर आप वाकई उस मामले में कुछ कर सकते हैं तो आप सोचिए वरना बस जाने दीजिए.

संगीत बनाना ज्यादा पसंद है

पपोन ने बातचीत के दौरान मोह-मोह के धागे और ये वक्त भी गुजर जाएगा के असमी वर्जन समेत तमाम गाने गाए. उन्होंने कहा कि उन्हें प्लेबैक और स्टेज परफॉर्मेंस से भी ज्यादा पसंद है संगीत बनाना. क्योंकि उस दौरान आप कुछ क्रिएट कर रहे होते हैं. जहां तक स्टेज की बात है तो मुझे अच्छा लगता है लोगों की खुशी. उनकी एनर्जी पसंद आती है.

एनवार्यमेंट लवर हैं पपोन

पपोन ने बताया कि वह लॉकडाउन में सबसे ज्यादा पहाड़ों को मिस कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि वह अगर किसी चीज को म्यूजिक से भी ज्यादा पसंद करते हैं तो वो है नेचर के करीब रहना. उन्होंने कहा कि बच्चों और परिवार के साथ वक्त बिता रहा हूं जो कि बहुत अच्छी बात है. समय नहीं मिलता था. लेकिन जंगलों में जाना मेरी दवा है. वो मुझे संगीत से भी ज्यादा पसंद है.

पपोन ने कहा कि मुझे अच्छा लगता है कि जब हवाएं चलती हैं, पत्ते गिरते हैं, पेड़ झूमते हैं, नदियां बहती हैं. अभी वो वक्त है जो प्रकृति मुस्कुरा रही है. मैंने कभी भी मुंबई के आसमान को इतना सुंदर कभी नहीं देखा. मैं सोच रहा हूं कि अगर 3 महीने के शटडाउन में चीजें ऐसी हो सकती हैं तो मैं सोचता हूं कि काश और साइकिलिंग ट्रैक होते और ऐसी कोई व्यवस्था होती नेचर के लिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें