scorecardresearch
 

e-Agenda: जो लोग भूल गए थे जिंदगी जीना, उन्हें होश में लाने के लिए लॉकडाउन: कैलाश खेर

आजतक के स्पेशल कार्यक्रम ई-एजेंडा आजतक में कैलाश ने कहा कि ये वायरस प्रकृति का संदेश है दुनियाभर के लोगों को थमने की जरूरत है. कैलाश ने कहा कि लोग अपनी जिंदगी में बहुत कुछ कर रहे थे, भागदौड़ भरी जिंदगी जी रहे थे.

X
कैलाश खेर कैलाश खेर

आजतक के स्पेशल कार्यक्रम ई एजेंडा आजतक में शनिवार को बॉलीवुड के जाने-माने सिंगर्स ने एंकर मीनाक्षी कंडवाल से बातचीत की. इस मौके पर सिंगर कैलाश खेर आजतक के साथ जुड़े. कैलाश खेर ने एंकर मीनाक्षी कंडवाल संग कोरोना वायरस और लॉकडाउन के बारे में बात की. ऐसे में मीनाक्षी ने कैलाश खेर से पूछा कि लॉकडाउन को आज एक महीना हो गया है. ऐसे में आपका क्या विचार है कैसे लोगों का समय बदल गया है.

लॉकडाउन ने सिखाया जीना

कैलाश ने इस बात के जवाब में कहा कि ये वायरस प्रकृति का संदेश है दुनियाभर के लोगों को थमने की जरूरत है. कैलाश ने कहा कि लोग अपनी जिंदगी में बहुत कुछ कर रहे थे, भागदौड़ भरी जिंदगी जी रहे थे. अब उन्हें थमने का मौका मिला है और अपने लिए समय निकालने का मौका मिला है. लोग आराम से जिंदगी जीना भूल गए थे और लॉकडाउन की वजह से उन्हें होश आ रहा है. उन्हें अपने परिवार और अपने जीवन के बारे में सोचने का मौका मिल रहा है.

वर्चुअल कॉन्सर्ट कर चुके हैं कैलाश

बता दें कि कुछ दिनों पहले कैलाश खेर ने संगीत सेतु नाम से एक वर्चुअल कॉन्सर्ट में भाग लिया था. इस कॉन्सर्ट में सोनू निगम, लता मंगेशकर, मीका सिंह संग 28 सिंगर्स ने गाना गाया था. इससे जमा हुए पैसों को ISRA ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फंड पीएम केअर्स में दान किया था. कैलाश खेर को अल्लाह के बंदे हंस दे, सैयां, तेरी दीवानी जैसे कई और गानों के लिए जाना जाता है. उन्होंने बॉलीवुड की कई फिल्मों के लिए भी गाने गाए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें