scorecardresearch
 

SC में बोले वकील- सुशांत से प्यार करती थी रिया, उसके जाने से लगा सदमा

रिया के वकील ने कहा कि इस केस की एफआईआर पटना में दर्ज की गई है जबकि वहां ये घटना हुई भी नहीं थी. इसके अलावा एफआईआर को भी 38 दिनों बाद दर्ज कराया गया था. अगर ये मामला पटना से मुंबई ट्रांसफर नहीं होता है तो रिया को न्याय नहीं मिलेगा.

रिया चक्रवर्ती और सुशांत सिंह राजपूत रिया चक्रवर्ती और सुशांत सिंह राजपूत

सुशांत सिंह राजपूत निधन मामले के चलते रिया चक्रवर्ती पिछले कुछ दिनों से काफी चर्चा में हैं. सुप्रीम कोर्ट में रिया चक्रवर्ती की याचिका (बिहार से मुंबई केस ट्रांसफर करने) पर सुनवाई भी चल रही है. जस्टिस ह्रषिकेश रॉय की बेंच सुनवाई कर रही है. सीनियर एडवकेट मनिंदर सिंह बिहार सरकार की तरफ से, एएम सिंघवी महाराष्ट्र सरकार, श्याम दीवान रिया की तरफ से और विकास सिंह सुशांत सिंह की फैमिली का पक्ष रख रहे हैं.

सीनियर एडवोकेट श्याम ने कहा कि रिया चक्रवर्ती सुशांत को प्यार करती थीं और वे उनकी मौत के बाद से ही सदमे में हैं. सोशल मीडिया पर रिया को बुरी तरह ट्रोल किया जा रहा है. उन्होंने ये भी कहा कि इस केस की एफआईआर पटना में दर्ज की गई है जबकि वहां ये घटना हुई भी नहीं थी. इसके अलावा एफआईआर को भी 38 दिनों बाद दर्ज कराया गया था. अगर ये मामला पटना से मुंबई ट्रांसफर नहीं होता है तो रिया को न्याय नहीं मिलेगा.

View this post on Instagram

Respected @amitshahofficial sir , I’m sushant Singh Rajputs girlfriend Rhea chakraborty, it is now over a month since his sudden demise . I have complete faith in the government , however in the interest of justice , I request you with folded hands to initiate a CBI enquiry into this matter . I only want to understand what pressures prompted Sushant to take this step. Yours sincerely Rhea Chakraborty #satyamevajayate

A post shared by Rhea Chakraborty (@rhea_chakraborty) on

निष्पक्ष जांच चाहते हैं : रिया के वकील

सुप्रीम कोर्ट ने रिया के वकील से पूछा कि क्या उन्हें लगता है कि सुशांत के निधन केस में सीबीआई जांच की जरूरत है? इस पर बात करते हुए श्याम ने कहा कि मैं इस मामले में निष्पक्ष कार्यवाई चाहता हूं. मैंने अभी तक कोर्ट को सीबीआई जांच वाले मुद्दे के लिए एड्रेस नहीं किया है.

श्याम ने कहा कि मुझे लगता है कि ये केस सबसे पहले मुंबई पुलिस के पास जाना चाहिए और अगर उसके बाद सीबीआई की जरूरत पड़ती है तो वे भी केस की जांच कर सकते हैं लेकिन आप किसी दूसरे राज्य में एफआईआर दर्ज नहीं करा सकते हैं जहां क्राइम नहीं हुआ है. अगर ऐसी कोई एफआईआर दर्ज होती है तो इसे ट्रांसफर करने की आवश्यकता है. श्याम ने इसके अलावा बिहार पुलिस के इस मामले को हैंडल करने को लेकर भी सवाल उठाए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें