scorecardresearch
 

सिनेमा में औरतों का सम्मान नहीं? प्रसून जोशी ने किस बात पर जताई आपत्ति

CBFC के चेयरमैन, दिग्गज गीतकार, कवि और लेखक प्रसून जोशी सिनेमा में महिलाओं की प्रस्तुति को लेकर खासे नाराज हैं. प्रसून ने कहा कि सिनेमाई प्रस्तुति में एक महिला की उपलब्धियों को नजरअंदाज कर सिर्फ उसके शरीर को फोकस किया जाता है.

प्रसून जोशी प्रसून जोशी

CBFC के चेयरमैन, दिग्गज गीतकार, कवि और लेखक प्रसून जोशी इंडिया टुडे कॉनक्लेव के 18वें संस्करण में शामिल हुए. एक सेशन में प्रसून ने देशभक्ति से लेकर सिनेमा में आते बदलावों तक तमाम मुद्दों पर बात की. इस दौरान प्रसून ने सिनेमा में महिलाओं को दिखाए जाने के ढंग पर आपत्ति भी जताई. उन्होंने कहा कि कुछ दृश्यों को देखकर ऐसा लगता है कि महिला महज मांस का टुकड़ा बन कर रह गई है.

प्रसून ने कहा, "जब लेडी पुलिस ऑफिसर को दिखा रहे हैं तो कई बार आप सिर्फ गिनी चुनी जगहों पर ही कैमरा जूम कर रहे हैं. उस महिला ने उस पद तक पहुंचने के लिए कितनी मेहनत की होगी. कितनी सारी चीजें हैं जिन्हें व्यक्त किया जाना चाहिए, लेकिन सिनेमा में इसे देखकर ऐसा लगता है कि वो लड़की महज मांस का टुकड़ा बन कर रह गई है. आप उसे एक मांस के टुकड़े के तौर पर ही देखते हैं."

महिलाओं को पेश किए जाने के तरीके पर आपत्ति जताने के अलावा भी प्रसून ने तमाम दूसरे मुद्दों पर भी बातचीत की. पुलवामा हमले को लेकर उन्होंने कहा, कई बार ऐसे लम्हे होते हैं जब मैं मदद नहीं कर सकता लेकिन लिख सकता हूं. इस बार नहीं पुलवामा के बाद का मेरा गुबार निकल कर बाहर आया.बता दें कि इंडिया टुडे कॉन्क्लेव के 18वें संस्करण का आगाज इंडिया टुडे ग्रुप के चेयरमैन और एडिटर-इन चीफ अरुण पुरी के स्वागत भाषण से शुक्रवार को नई दिल्ली में हुआ. दो दिवसीय कॉन्क्लेव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के अलावा राजनीति, कला, सिनेमा जैसे क्षेत्रों से कई दिग्गज शामिल हो रहे हैं. बॉलीवुड से रणवीर सिंह, सोनाली बेंद्रे और कंगना रनौत जैसे एक्टर्स भी शामिल हो रही हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें