scorecardresearch
 

छेड़छाड़ मामला: एक्टर दिलीप को झटका, सुप्रीम कोर्ट ने ठुकराई ट्रायल पर रोक लगाने की अर्जी

सुप्रीम कोर्ट ने एक्टर दिलीप की गुजारिश पर ट्रायल को रोकने से साफ इंकार कर दिया है. एक्टर की मांग थी कि जब तक सेंट्रल फोरेंसिक लैबोरेट्री से रिपोर्ट नहीं आ जाती तब तक केस को रोक दिया जाए. मगर सुप्रीम कोर्ट फिलहाल इससे सहमत नजर नहीं आ रहा है.

दिलीप (मलयालम एक्टर) दिलीप (मलयालम एक्टर)

मलयालम फिल्मों के एक्टर दिलीप के ऊपर महिला के यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. मामला अब पेचीदा होता नजर आ रहा है. सुप्रीम कोर्ट ने एक्टर दिलीप की गुजारिश पर ट्रायल को रोकने से साफ इंकार कर दिया है. एक्टर की मांग थी कि जब तक सेंट्रल फोरेंसिक लैबोरेट्री से रिपोर्ट नहीं आ जाती तब तक केस को रोक दिया जाए. मगर सुप्रीम कोर्ट फिलहाल इससे सहमत नजर नहीं आ रहा है.

दरअसल CFSL की रिपोर्ट में एक मैमोरी कार्ड के अंदर के विजुअल्स की जांच की जा रही है. दिलीप के मुताबिक विजुअल्स की जांच इस तर्ज पर की जाएगी कि वे कितने विश्वसनीय हैं.  मामले की बात करें तो एक भारतीय अभिनेत्री ने दिलीप पर साल 2017 में छेड़छाड़ का आरोप लगाया था. जिसके बाद हाल ही में एक निचली अदालत ने मलयालम फिल्म अभिनेता दिलीप और अन्य के खिलाफ आरोप तय किये थे. अभिनेता और नौ अन्य आरोपी एर्णाकुलम में अतिरिक्त विशेष सत्र न्यायाधीश की अदालत में पेश हुए थे जहां उनके खिलाफ आरोप तय किये गए. हालांकि सभी ने आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था.

उच्चतम न्यायालय ने नवंबर 2019 में आदेश दिया था कि मुकदमे की सुनवाई छह महीने में पूरी हो जानी चाहिए. कोर्ट द्वारा दिलीप की दरख्वास्त ठुकराए जाने के बाद निश्चित ही एक्टर की मुश्किलें बढ़ गई हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें