scorecardresearch
 

प्रभास को नहीं पसंद आई थी राजामौली की डेब्यू फिल्म, डायरेक्टर ने 4 फ्लॉप के बाद भी ऑफर की 'बाहुबली'

'बाहुबली' से पहले भी प्रभास तेलुगू में तो बड़े स्टार थे ही, लेकिन डायरेक्टर एस एस राजामौली के दो पार्ट में बने एपिक से वो पैन इंडिया स्टार बन गए. राजामौली ने 'बाहुबली' से पहले भी प्रभास को फिल्म ऑफर की थी, और उन्होंने रिजेक्ट कर दी थी क्योंकि उन्हें डायरेक्टर की पहली फिल्म पसंद नहीं थी. आइए बताते हैं पूरा किस्सा.

X
राजामौली की 'बाहुबली' में प्रभास
राजामौली की 'बाहुबली' में प्रभास

10 जुलाई 2015 को जब 'बाहुबली' थिएटर्स में रिलीज हुई, तब देश के उत्तरी हिस्से में शायद बहुत सारे लोगों को नहीं पता था कि प्रभास कौन हैं. फिल्म शुरू होने के कुछ ही देर बाद जनता ने शिवा का किरदार निभा रहे प्रभास को जब लोगों ने शिवलिंग उठाने वाले सीन में देखा, कितनों की तो पलकें ही झपकना भूल गईं.

फिल्म खत्म होने के बाद थिएटर से बाहर आता हर दर्शक हमेशा के लिए उस एक्टर का फैन हो चुका था, जिसे साउथ इंडियन दर्शक 'डार्लिंग' और 'रेबेल स्टार' के नाम से जानते थे. एस एस राजामौली के एपिक ने पूरे देश को प्रभास का नाम याद करवा दिया. और जब 'बाहुबली 2' रिलीज हुई, तब तो ऐसा क्रेज था कि फिल्म के टिकट नहीं मिलते थे. कुछ दिनों बाद प्रभास, सबसे बड़े पैन इंडिया स्टार थे और उनकी फिल्म ने ऐसी रिकॉर्ड तोड़ कमाई की, जिसे पछाड़ पाना आज भी फिल्मों के लिए संभव नहीं हो पा रहा.

राजामौली और प्रभास की जोड़ी ने इंडियन बॉक्स ऑफिस को वो आंकड़े दिखाए, जिनकी कल्पना भी फिल्ममेकर्स ने नहीं की थी. उस समय शायद ही किसी इंडियन फिल्ममेकर ने सोचा होगा कि हिंदी में कोई फिल्म 500 करोड़ से ज्यादा, इंडिया में 1000 करोड़ से ज्यादा और वर्ल्डवाइड 1700 करोड़ से ज्यादा बिजनेस कर सकती है. प्रभास के साथ राजामौली की तेलुगू फिल्म 'छत्रपति' बड़ी हिट रही थी. हालांकि, 'छत्रपति' से पहले भी राजामौली ने प्रभास को फिल्म ऑफर की थी, लेकिन 'डार्लिंग' स्टार ने उन्हें सीधा रिजेक्ट कर दिया था. पता है क्यों? 

प्रभास को नहीं पसंद आई राजामौली की डेब्यू फिल्म 
राजामौली की पहली फिल्म 2001 में रिलीज हुई थी. फिल्म का नाम था 'स्टूडेंट नंबर 1' और इसके लीड हीरो थे जूनियर एनटीआर. राजामौली ने एनटीआर को उनके करियर की पहली सुपरहिट दी. लेकिन दमदार कमाई करने वाली ये फिल्म एक बड़े तेलुगू हीरो को बिल्कुल भी पसंद नहीं आई, यानी प्रभास को. 2015 में एक इवेंट में प्रभास ने कहा था, 'मुझे तब ये भी नहीं समझ थी कि कोई स्टोरी अच्छी है या बुरी.' और इसीलिए जब राजामौली ने प्रभास को एक फिल्म ऑफर की तो उन्होंने तुरंत रिजेक्ट कर दी. 

2003 में राजामौली और जूनियर एनटीआर की जोड़ी एक बार फिर साथ आई और इनकी फिल्म 'सिंहाद्री' बड़ी फिर से बड़ी हिट हुई. प्रभास इसकी तारीफ सुन रहे थे. प्रभास ने 2015 के उसी इवेंट में बताया, 'एक दिन तारक (जूनियर एनटीआर) ने मुझे इसके प्रीव्यू के लिए बुलाया और मैं इसे देखकर मैं मंत्रमुग्ध रह गया.'

राजामौली से फिर मिले प्रभास
प्रभास और राजामौली की अगली मुलाकात 'दिल' फिल्म के ऑडियो लॉन्च पर हुई. 'डार्लिंग' स्टार ने राजामौली को 'सिंहाद्री' के लिए बधाई दी. अगले ही दिन राजमौली ने प्रभास को 'छत्रपति' की कहानी सुनाई और कहा कि वो उनके साथ काम करना चाहते हैं. इस बार प्रभास राजी हुए और दोनों की जोड़ी ने एक और बड़ी हिट दी. 

फ्लॉप के बावजूद 'बाहुबली' लेकर पहुंचे राजामौली
बाद की एक बातचीत में प्रभास ने बताया कि जब राजामौली ने उन्हें 'बाहुबली' ऑफर की, उस समय उनकी फिल्में लगातार फ्लॉप हो रही थीं. प्रभास ने बताया, '6 साल पहले राजामौली ने कहा कि वो मेरे साथ बड़ी फिल्म बनाना चाहते हैं. मेरी 4 फ़िल्में फ्लॉप हुई थीं, लेकिन उन्होंने फिर भी 'बाहुबली' के लिए अप्रोच किया. ऐसी फिल्में लाइफ में एक बार मिलती हैं और इसके लिए मैं अपने दिल की गहराई से उन्हें शुक्रिया कहता हूं.' 

'बाहुबली' की कामयाबी ने प्रभास को पैन इंडिया स्टार बना दिया. उन्हें लोग पूरे देश में पहचानने लगे और उनके स्टारडम में नॉर्थ और साउथ को बांटने वाली कोई लाइन नहीं है. प्रभास अब जल्द ही ओम राउत की फिल्म 'आदिपुरुष' में नजर आने वाले हैं. इसके बाद दीपिका पादुकोण के साथ वो 'प्रोजेक्ट के' में भी दिखेंगे. ये दोनों ही फिल्में पैन इंडिया रिलीज होंगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें