scorecardresearch
 

Richa Chaddha के ट्वीट पर भड़कीं स्मृति ईरानी, बोलीं- माफीनामे का ढोंग बंद हो

ऋचा चड्ढा के ट्वीट पर विवाद खत्म हो का नाम नहीं ले रहा है. एक्ट्रेस ने गलवान वैली में हुए क्लैश को लेकर एक ट्वीट किया था, जिसके बाद सोशल मीडिया पर उन्हें भारी निंदा का सामना करना पड़ रहा है. इस बीच अब केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने ऋचा के ट्वीट पर अपना रिएक्शन दिया है.

X
स्मृति ईरानी, ऋचा चड्ढा
स्मृति ईरानी, ऋचा चड्ढा

ऋचा चड्ढा के ट्वीट पर विवाद खत्म हो का नाम नहीं ले रहा है. तमाम बॉलीवुड सेलेब्स के बाद अब केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने ऋचा के ट्वीट पर अपना रिएक्शन दिया है. अनुपम खेर, अक्षय कुमार, रवीना टंडन, के के मेनन जैसे सेलेब्स ऋचा के ट्वीट की निंदा कर चुके हैं. ऐसे में अब स्मृति ने भी बड़ी बात कह दी है. 

स्मृति ईरानी ने कही ये बात

स्मृति ईरानी कहती हैं कि जिन्होंने देश की सेवा में अपने परिजनों को खोया है. इस प्रकार के ब्यान ऐसे परिवारों को आहत करने वाले है. राष्ट्रनीति पर मानने वाले हिंदुस्तानियों को आहत करने वाले ऐसे ब्यान देने के बाद जानबुझकर सोच समझ कर माफी नामें का ढोंग है, वो ढोंग बंद हो तो बेहतर है.

स्मृति से पहले अनुपम खेर ने इस ट्वीट पर बात की थी. अनुपम खेर ने ऋचा चड्ढा के ट्वीट की निंदा करते हुए लिखा था, 'देश की बुराई करके कुछ लोगों के बीच लोकप्रिय होने की कोशिश करना कायर और छोटे लोगों का काम है. और सेना के सम्मान को दांव पर लगाना… इससे ज्यादा शर्मनाक और क्या हो सकता है.'

क्या है पूरा मामला?

उत्तरी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने अपने एक बयान में कहा था क‍ि भारतीय सेना, पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर को दोबारा हथियाने के लिए भारत सरकार के आदेश को इंतजार कर रही है. उनकी इस बात पर जवाब देते हुए ऋचा चड्ढा ने ट्वीट किया था, 'गलवान हाय बोल रहा है.'

ऋचा ने मांगी थी माफी

एक्ट्रेस के इस ट्वीट का इशारा 2020 में हुए गलवान संघर्ष की तरफ था. ये ट्वीट वायरल हुआ और इसे लेकर सोशल मीडिया पर खूब हंगामा मचने लगा. ऋचा चड्ढा की निंदा होने के साथ-साथ उन्हें ट्रोल भी किया गया. साथ ही उनकी नई फिल्म फुकरे 3 को बायकॉट करने की मांग ही उठने लगी. 

सारे हंगामे के बीच ऋचा ने एक बयान जारी माफी भी मांग ली है. उन्होंने कहा कि उनका मकसद भारतीय सेना को आहत करना नहीं था. अपने माफी वाले ट्वीट में ऋचा ने लिखा, 'मेरा मकसद कभी भी भारतीय सेना को आहत करना नहीं हो सकता, लेकिन जिन तीन शब्दों को विवादों में घसीटा जा रहा है. अगर उनसे किसी को भी दुख पहुंचा है, तो मैं माफी चाहूंगी. मैं ये भी कहना चाहती हूं कि अगर जाने अनजाने में मेरे शब्दों ने फौज के मेरे भाइयों को आहत किया है, तो इससे मुझे दुख हुआ है. मेरे नाना जी भी सेना का बड़ा हिस्सा रहे हैं.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें