scorecardresearch
 

'निल बटे सन्नाटा', 'सांड की आंख' टैक्स फ्री हो सकती है तो कश्मीर फाइल्स क्यों नहीं? विधानसभा में गूंजा मुद्दा

अब AAP पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज ने फिल्म को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है और कश्मीरी पंडितों से मिलकर उनका अनुभव कैसा था इस बारे में बात की है. फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अच्छी कमाई कर रही है. 17 दिनों में दुनियाभर में फिल्म ने 250 करोड़ की कमाई कर ली है.

X
द कश्मीर फाइल्स द कश्मीर फाइल्स
स्टोरी हाइलाइट्स
  • AAP विधायक ने सुनाई कश्मीरी विस्थापितों की कहानी
  • बीजेपी विधायक ने टैक्स फ्री को लेकर घेरा

विवेक अग्निहोत्री की फिल्म द कश्मीर फाइल्स रिलीज के बाद से लगातार शानदार कमाई कर रही है. लेकिन इसी के साथ ये मूवी को लेकर कुछ कंट्रोवर्सीज भी देखने को मिल रही है. विभिन्न पार्टियों के नेता इस मूवी पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे हैं. अब AAP पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज ने फिल्म को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है और कश्मीरी पंडितों से मिलकर उनका अनुभव कैसा था इस बारे में बात की है. दूसरी ओर बीजेपी विधायक ने सवाल उठाया है कि अगर निल बटे सन्नाटा, सांड़ की आंख को टैक्स फ्री किया जा सकता है तो कश्मीर फाइल्स को टैक्स फ्री क्यों नहीं किया जा सकता. 

आप विधायक का बयान 

सौरभ भारद्वाज ने कहा- 'जब मैं 2014 में पहली बार विधायक बना तब पम्पोस कॉलोनी गया था जहां विस्थापित कश्मीरी परिवार रहते हैं. वहां पीने का पानी नहीं आता था. जबकि लोगों ने बताया कि वे BJP का सपोर्ट करते आए हैं. आसपास की कॉलोनी में पानी आता था लेकिन उन्हें पानी नहीं दिया जाता था. हमने वहां पानी पहुंचाने का काम किया. वहां मुझे एक महिला मिसेज रैना मिलीं. उन्होंने बताया कि 1990 में टेम्पररी नौकरी दी गई थी लेकिन 25 साल में भी पक्का नहीं किया गया था. इसके बाद उन्हें लेकर मैं मनीष सिसोदिया के पास गया था. हमारी सरकार से पहले एक साल तक दिल्ली का शासन सीधे केंद्र के अधीन था. अरुण जेटली उस कॉलोनी के बिल्कुल करीब रहते थे. लेकिन फिर भी उनका काम नहीं हुआ. उनकी नौकरी को पक्का करने का काम अरविंद केजरीवाल सरकार ने किया.

The Kashmir Files box office collection Day 17: जारी है विवेक अग्निहोत्री की 'द कश्मीर फाइल्स' की बंपर कमाई, 250 करोड़ का आंकड़ा पार

भाजपा विधायक अजय महावर ने कहा कि कश्मीर में 70 सालों में कश्मीरी पंडितों का दमन हुआ, फिल्म में उस काले अध्याय को दिखाने का साहस किया, भाजपा ने जब कश्मीर फाइल्स मूवी को टैक्स फ्री करने की मांग कि तो दिल्ली सरकार ने मांग को नहीं माना इसके विपरीत कश्मीरी पंडितों, हिंदूओं और भाजपा विधायकों का उपहास उड़ाया गया, इससे पहले स्वरा भास्कर की फिल्म निल बटे सन्नाटा, तापसी पन्नू की फिल्म सांड की आंख और कबीर खान की फिल्म 83 को टैक्स फ्री और प्रमोशन गया किया था, दिल्ली की आम जनता के लिए फिल्म कश्मीर फाइल्स को टैक्स फ्री करना चाहिए ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग देख सकें.

 और पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें