scorecardresearch
 

मीशा सफी को तीन साल की जेल की रिपोर्ट को एक्ट्रेस के वकील ने बताया 'फेक न्यूज'

पहले ये खबर सामने आई थी कि अली जफर मामले में मीशा को 3 साल की सजा हुई है. मगर इसमें कोई सच्चाई नहीं है और मीशा का लेटेस्ट पोस्ट इस बात का सबूत है.

अली जफर, मीशा शफी अली जफर, मीशा शफी

पिछले कुछ समय से पाक‍िस्तानी सिंगर मीशा शफी सुर्खियों में हैं. ऐसी खबरें आई थीं कि अली जफर मामले में उन्हें 3 साल की जेल हुई है मगर अब सिंगर ने खुद इस बात का खंडन कर दिया है. खबरें थीं कि उन्हें सिंगर अली जफर के ख‍िलाफ मानहान‍ि मामले में तीन साल कैद की सजा सुनाई गई है. कुछ साल पहले उन्होंने अली जफर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. मगर अब मीशा ने 3 साल की सजा मिलने की खबर को सोशल मीडिया के जरिए सिरे से खारिज कर दिया है. 

मीशा ने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट के जरिए इस मामले पर सफाई देते हुए कहा कि- एक और दिन, एक और दुष्प्रचार. हैरास होने से ज्यादा मुश्किल होता है उसके बारे में बात करना. उन लोगों के प्रति मेरी संवेदना भी और बल भी जो हैरासमेंट के बाद अपने आज के साथ कंप्रोमाइज करते हैं ताकि भविष्य बेहतर हो सके. मेल ऑनलाइन की रिपोर्ट के माध्यम से पहले ये खबर सामने आई थी कि इस मामले में मीशा को 3 साल की सजा हुई है. मगर इसमें कोई सच्चाई नहीं है और मीशा का लेटेस्ट पोस्ट इस बात का सबूत है. यही नहीं मीशा के वकील ने भी एक ट्वीट जारी कर इस खबर का खंडन कर दिया है.

मीशा ने किया ये पोस्ट- 

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Meesha Shafi (@meesha.shafi)

मीशा के वकील का ट्वीट

 

मीशा ने लगाया था अली पर यौन उत्पीड़न का आरोप

मीशा सफी ने अली पर  लिखा था- 'ये हादसे बस उस वक्त नहीं हुए जब मैं छोटी थी या इंडस्ट्री में आई थी. एक सशक्त, निपुण मह‍िला जो अपनी बात कह सके, होने के बावजूद भी ये मेरे साथ हुआ है. दो बच्चों की मां होने के बाद भी ये हुआ है'. बता दें कि मीशा शफी द्वारा लगाए गए इस आरोप को अली जफर ने साफ नकार दिया था.

मीशा शफी ने ये ट्वीट क‍िया था 

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Ali Zafar (@ali_zafar)

अली ने जारी किया था ये बयान 

मीशा शफी ने जब अली पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था, तब अली जफर ने आरोप को खार‍िज करते हुए बयान जारी किया था. उन्होंने लिखा था- 'Ms. शफी ने उत्पीड़न के जो भी आरोप मुझपर लगाए हैं उन्हें मैं सिरे से खार‍िज करता हूं. मैं इसे अदालत तक लेकर जाउंगा और इसपर प्रोफेशनल तरीके से एक्शन लूंगा, बजाय क‍ि किसी आरोप की पैरवी करूं, सोशल मीड‍िया पर व्यक्त‍िगत प्रतिशोध पर बात रखूं और बदले में इस आंदोलन (MeToo के संदर्भ में), मेरे पर‍िवार, इंडस्ट्री और मेरे फैंस का अनादर करूं. मैं अच्छी तरह वाक‍िफ हूं और अंतराष्ट्रीय स्तर पर चल रहे #MeToo आंदोलन के सपोर्ट में हूं और वो मेरे लिए क्या मायने रखता है ये मैं भली-भांती जानता हूं. मैं एक बेटी और बेटे का पिता हूं, एक पत्नी का पति और एक मां का बेटा. मैं वो इंसान हूं जो खुद के लिए, पर‍िवार के लिए,सहकर्म‍ियों के लिए और दोस्तों के लिए बदनामी, मानहान‍ि और बेइज्जती के ख‍िलाफ अनेकों बार खड़े होने की क्षमता रखता है. मैं आज भी वही करूंगा. मेरे पास कुछ छिपाने को नहीं है. और चुप रहना कोई विकल्प नहीं है.' 

(डिस्क्लेमरः मीशा सफी को तीन साल की जेल की खबर ब्रिटिश टेबलॉयड के रेफरेंस से लगाई गई थी. मीशा के वकील के बयान के बाद इसे अपडेट किया गया है.)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें