scorecardresearch
 

जब शेर-चीतों से भिड़े बॉलीवुड स्टार... धर्मेन्द्र से लेकर करिश्मा कपूर, पंकज त्रिपाठी तक ने शूट किए रिस्क भरे सीन

भारत की भूमि पर 74 साल बाद Cheetah Return हो रहा है. नामीबिया से 8 चीते आज मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क पहुंच रहे हैं. पर आज हम आपको बताने वाले हैं कुछ ऐसी कहानियां, जहां हमारे बॉलीवुड स्टार शेर-चीतों के साथ नजर आए. इस लिस्ट में धर्मेन्द्र से लेकर करिश्मा कपूर और पंकज त्रिपाठी तक का नाम शामिल है.

X
करिश्मा कपूर अफ्रीका में चीता के साथ
करिश्मा कपूर अफ्रीका में चीता के साथ

'चीते की चाल, बाज की नजर और बाजीराव की तलवार पर संदेह नहीं करते' या 'सारा शहर मुझे लायन के नाम से जानता है'... ये वो डायलॉग्स हैं, जो हमारी बॉलीवुड फिल्मों में शेर-चीते जैसे जंगली जानवरों की अहमियत दिखाते हैं. इन डॉयलॉग्स से ना सिर्फ इन्हें बोलने वाले किरदारों में जान आ गई, बल्कि ये हमेशा के लिए लोगों के दिलो-दिमाग में भी छप गए.

बॉलीवुड में कई ऐसी फिल्में बनी हैं जहां हमारे एक्टर्स स्क्रीन पर चीते से लेकर शेर, बाघ और तेंदुए जैसे खूंखार माने गए जंगली जानवरों के साथ दिखे. जहां नए जमाने में ये कमाल कंप्यूटर ग्राफिक्स की मदद से हुआ, वहीं बीते दौर में तो एक्टर्स ने रियल शेर-चीतों के साथ बड़ी लड़ाई लड़ी. अगर आपने हाल ही में आईं अक्षय कुमार की 'पृथ्वीराज' या एसएस राजामौलि की 'RRR' देखी होगी, तो आपको पता होगा कि इनमें जंगली जानवरों के साथ अहम फाइटिंग सीन थे.

धर्मेन्द्र यूं ही नहीं बने He-Man

शेर-चीतों की बात हो और धर्मेन्द्र का नाम ना आए, ये थोड़ा बेमानी होगा. बॉलीवुड के He-Man यानी धर्मेन्द्र के करियर में कई ऐसी फिल्में रही हैं जहां वो शेर, चीता, बाघ और तेंदुआ के साथ फाइटिंग सीन कर रहे हैं. 1968 में आई 'आंखें' को याद कीजिए. धर्मेन्द्र और माला सिन्हा की इस फिल्म में धर्मेन्द्र का बाघ के साथ एक जबरदस्त फाइटिंग सीन था. और क्या आपको पता है कि इस फिल्म के डायरेक्टर रामानंद सागर थे, वहीं जिन्होंने 'रामायण' और 'श्रीकृष्णा' जैसे टीवी शोज बनाए.

इतना ही नहीं, धर्मेन्द्र की एक फिल्म 1976 में आई, नाम था 'मां'. इस फिल्म में तेंदुए, बाघ और शेर के साथ उनके कई फाइटिंग सीन हैं. फिर 1978 में आई 'आजाद' और 1979 में 'कर्तव्य' में भी धर्मेन्द्र हीरो बने और जंगल के शिकारी यानी बाघ के साथ दो-दो हाथ करते नजर आए. 'कर्तव्य' फिल्म का किस्सा तो ऐसा है कि जिस चीते के साथ धर्मेन्द्र का फाइट सीन होना था, उसने पालतू होने के बावजूद, उन पर हमला कर दिया था, क्योंकि वो सेट पर मौजूद लाइट से घबरा जाता था.

धर्मेन्द्र का बाघ के साथ फाइट सीन
धर्मेन्द्र का बाघ के साथ फाइट सीन

वैसे धर्मेन्द्र की एक और फिल्म थी 1977 में आई 'धरम वीर', लेकिन इस फिल्म में उन्होंने नहीं, बल्कि उनके पिता का किरदार निभाने वाले एक्टर प्राण ने बाघ के साथ एक फाइटिंग सीन किया था.

राज कपूर, सनी देओल भी दिखे शेरों के साथ

हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के शोमैन कहे जाने वाले राज कपूर भी फिल्मी पर्दे पर शेर-चीतों के साथ नजर आए हैं. उनकी 'मेरा नाम जोकर' किसे नहीं याद होगी, इस फिल्म में जब वो सर्कस में जाते हैं तो रिंग मास्टर का किरदार निभाते हैं. एक पिंजड़े में शेर, शेरनी और बाघ के साथ ये सीन शूट किया जाता है. हालांकि कहा जाता है कि ये 1928 की चार्ली चैपलिन की फिल्म 'द सर्कस' के 'लायन केज' सीन से इंस्पायर्ड था, लेकिन चार्ली चैपलिन की फिल्म जैसा हास्य इसमें नहीं था. बताया जाता है कि चार्ली चैपलिन ने इस सीन को शूट करने के लिए 200 से ज्यादा टेक किए थे.

खैर, बात करते हैं धर्मेन्द्र के बेटे सनी देओल की, जो अपने दमदार डायलॉग्स और फाइट सीन के लिए जाने जाते हैं. 1996 में आई 'घातक' के एक सीन में जब वो कात्या के गुंडों से लड़ रहे होते हैं, तो उस पिंजड़े में आस-पास शेर होते हैं. इस फिल्म का एक फेमस डायलॉग भी है...'पिंजड़े में आकर शेर भी कुत्ता बन जाता है कात्या, तू चाहता है कि मैं तेरे यहां कुत्ता बन कर रहूं, तू कहे तो भौंकू, तू कहे तो काटूं?'

करिश्मा कपूर ने अफ्रीका में की चीतों संग शूटिंग

वैसे सिर्फ हीरो ही नहीं, बॉलीवुड की हीरोइन भी शेर-चीतों से लड़ने में आगे रहीं हैं. भारत में आखिरी बार चीता 1948 में दिखा और 1952 में उसे विलुप्त करार दे दिया गया. लेकिन हमारे फिल्म मेकर्स यहीं नहीं रुके, उन्होंने चीतों के साथ शूटिंग के लिए अफ्रीका को चुना. अब देश में 74 साल बाद जो 'चीता रिटर्न' हो रहा है, वो चीते भी अफ्रीका के नामीबिया से आ रहे हैं.

करिश्मा कपूर की गोविंदा के साथ साल 2000 में फिल्म आई थी 'शिकारी', इस फिल्म में करिश्मा कपूर और चीते का एक चेज सीन है. करिश्मा ने कुछ वक्त पहले इंस्टाग्राम पर इस शूट से जुड़ा एक फोटो शेयर किया था और उसे अपना सबसे कठिन शूट बताया था. वैसे गोविंदा ने ढेर सारे जंगली जानवरों के साथ 1998 में 'महाराजा' फिल्म की थी. इसमें उनके साथ मनीषा कोइराला ने काम किया था.

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Karisma Kapoor (@therealkarismakapoor)

अमिताभ जब बने थे मिस्टर नटवरलाल

भारतीय समाज को 'मर्द को दर्द नहीं होता' जैसा डायलॉग देने वाले बॉलीवुड के सुपरस्टार अमिताभ बच्चन भी अपने करियर में बाघ के साथ फाइटिंग सीन कर चुके हैं. रेखा के साथ 1979 में उनकी फिल्म 'मिस्टर नटवरलाल' में बाघ के साथ एक जबरदस्त फाइटिंग सीन था. इतना ही नहीं फिल्म में एक गाना भी था, जो शेर के शिकार की कहानी बताने वाला था. वहीं 1991 में आई 'हम' फिल्म में अमिताभ बच्चन के किरदार का नाम ही Tiger था, तो 1994 में मिथुन चक्रवर्ती ने 'चीता' नाम की एक फिल्म में काम किया था. 

अमिताभ बच्चन की मिस्टर नटवरलाल फिल्म का एक सीन
अमिताभ बच्चन की मिस्टर नटवरलाल फिल्म का एक सीन

पंकज त्रिपाठी जब मिले बाघ से

यूं तो लिस्ट बनाने बैठेंगे तो कई फिल्म और कई स्टार का नाम जुड़ता जाएगा. लेकिन इस लिस्ट में सबसे नया नाम पंकज त्रिपाठी का है, जो हाल ही में नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई एक फिल्म 'शेरदिल: द पीलीभीत सागा' में दिखाई दिए थे. इस फिल्म में पंकज त्रिपाठी एक ऐसे गांव के मुखिया का किरदार निभा रहे हैं जो नेशनल पार्क के पास है. इस फिल्म के एक सीन में वो बाघ को चिढ़ा रहे हैं और कह रहे हैं कि वो उन्हें खा ले. हालांकि वो बाघ उन्हें खाता नहीं है, लेकिन फिल्म के एंड में वो एक बाघ के हाथों ही मारे जाते हैं.

इस तरह बॉलीवुड का शेर-चीता प्रेम 60 के दशक से लेकर अब तक बना हुआ है. अब देखना ये है कि अगली कौन-सी फिल्म में शेर-चीता दिखाई देते हैं. फिलहाल आप नामीबिया से भारत आए चीतों की कवरेज देखिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें