scorecardresearch
 

मर्लिन मुनरो से परवीन बॉबी तक, दर्द में बीती इन एक्ट्रेसेज की जिंदगी, प्यार को तरसीं

बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड इंडस्ट्री तक कई ऐसे सेलेब्स रहे हैं, जिन्होंने अपनी जिंदगी से तंग आकर मौत को गले लगाना सही समझा. कुछ ऐसे हैं जो अपने दर्द को भूलाने के लिए शराब और ड्रग्स का सहारा लिया. वहीं बहुत से ऐसे भी रहे हैं, जो जिंदगीभर लोगों की भीड़ के बीच रहने के बावजूद प्यार को तरसे.

X
परवीन बॉबी, मर्लिन मुनरो
परवीन बॉबी, मर्लिन मुनरो

कहते हैं कि प्यार दुनिया की सबसे जरूरी और खूबसूरत चीज है. लेकिन सच ये भी है कि जिंदगी में प्यार सभी को नसीब नहीं होता. कैमरा की चकाचौंध के पीछे कई एक्टर्स अपनी असली जिंदगी को जीते हैं. ये जिंदगी आपकी और हमारी सोच से बेहद अलग होती है. भले ही आप कितना भी उनके बारे में जानना चाहें, लेकिन कोई खबर या सोशल मीडिया फैनपेज आपको किसी की असल जिंदगी के बारे में नहीं बता सकता है.

बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड इंडस्ट्री तक कई ऐसे सेलेब्स रहे हैं, जिन्होंने अपनी जिंदगी से तंग आकर मौत को गले लगाना सही समझा. कुछ ऐसे हैं जो अपने दर्द को भूलाने के लिए शराब और ड्रग्स का सहारा लिया. वहीं बहुत से ऐसे भी रहे हैं, जो जिंदगीभर लोगों की भीड़ के बीच रहने के बावजूद प्यार को तरसे. आज हम कुछ ऐसी एक्ट्रेसेज के बारे में बात कर रहे हैं जिन्होंने ऐसी ही चीजों को देखा और जिया है. 

मर्लिन मुनरो 

मर्लिन मुनरो हॉलीवुड इंडस्ट्री की सबसे फेमस एक्ट्रेसेज में से एक थीं. पर्दे पर मर्लिन की खूबसूरती और मजाकिया अंदाज को दर्शक खूब पसंद करते थे. लेकिन उनकी असली जिंदगी उनकी पर्दे पर दिखने वाली इमेज से बेहद अलग थी. असल जिंदगी में वह नोर्मा जीन थीं, जो फेमस मर्लिन मुनरो होने का नाटक कर रही थीं. 

मर्लिन ने अपनी जिंदगी में काफी दर्द झेला था. उनकी मां के बीमार होने के बाद उन्हें अनाथों की तरह बचपन गुजारना पड़ा. इसके बाद जिंदगी में जब उन्हें प्यार मिला तो वो भी ज्यादा समय तक नहीं चल पाया. मर्लिन ने जिंदगी में तीन शादियां कीं लेकिन वह फिर भी खुद को अकेला महसूस करती थीं. उन्होंने बच्चे पैदा करने चाहे तो वो भी नहीं हो पाया. एक समय ऐसा था जब वह न्यूयॉर्क के एक थिएटर में गुमनामों की तरह क्लास लिया करती थीं. जिंदगी में दर्द जब हद से ज्यादा हो गया तो उन्हें उनके घर में मृत पाया गया. उनकी मौत कैसे हुई ये कोई नहीं जानता.

मीना कुमारी 

विनोद मेहता ने मीना कुमारी की बायोपिक में बताया था कि जब वह पैदा हुईं तो उनके पिता ने उन्हें डॉक्टर के दरवाजे पर छोड़ दिया था. इसका कारण था उनकी पैसों की तंगी. किशोर कुमार के भाई अशोक की वजह से उनकी मुलाकात अपने पति कमल अमरोही से हुई थी. कमल पहले से शादीशुदा और तीन बच्चों के बाप थे. दोनों जब शादी करने वाले थे तो कमल को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ा. 

दोनों की शादी काफी मुश्किल थी. कमल संग मीना ने सीक्रेट निकाह किया था. शादी के बाद कमल ने उनपर कई पाबंदियां लगाई. बाद में उन्होंने इन्हीं के चलते अपने रास्ते अलग कर लिये. कमल से अलग होने के बाद मीना डिप्रेशन में चली गई थीं. उन्होंने शराब का लेकर अपनी गम को भुलाने की कोशिश की. डॉक्टरों के मना करने के बावजूद उन्होंने शराब नहीं छोड़ी और एक दिन जिंदगी ने उनका साथ छोड़ दिया.

सिल्क स्मिता 

साउथ इंडस्ट्री की 'सेक्स सिंबल' कही जाने वालीं सिल्क स्मिता के कई दीवाने थे. उनकी अदाओं और सेंसुअस अंदाज पर लोग जान छिड़का करते थे. लेकिन पर्दे पर जितना वह दर्शकों का दिल धड़काती थीं, उतनी ही उनकी असल जिंदगी में अंधेरा था. अपने 17 सालों के करियर में सिल्क ने पांच भाषाओं की 450 फिल्मों में काम किया. उनका करियर कई उतार-चढ़ाव से भरा था. टचअप आर्टिस्ट के तौर पर शुरुआत करने वालीं सिल्क स्मिता ने 1980 में बड़े पर्दे पर एंट्री की और फिर कभी मुड़कर नहीं देखा. 

सिल्क एक गरीब घर की लड़की थीं. गरीबी के चलते ही वह चौथी क्लास से आगे पढ़ाई नहीं कर पाई थीं. 14 साल की उम्र में उनकी जबरदस्ती शादी करवा दी गई थी. जिस इंसान से उनकी शादी पक्की हुई थी ना तो वह उसे जानती थीं और ना ही किसी ने उन्हें बताया था कि उनकी शादी करवाई जाने वाली है. इस शादी में उनके पति ने उनके साथ बुरा व्यव्हार किया. साथ ही उनके माता-पिता ने भी उन्हें परेशान किया. ऐसे में कुछ ही सालों में यह रिश्ता खत्म हो गया था.

पर्दे पर खुलकर बात करने और बिंदास दिखने वालीं सिल्क स्मिता असली जिंदगी में शर्मीली थीं. वह अपनी जिंदगी की परेशानियों को किसी के साथ शेयर नहीं करती थीं. लेकिन साथ ही दूसरों के मुंह पर मन की बात कहने के लिए जाना जाता था. लेकिन जिंदगी के एक मोड़ पर उनकी जिंदगी में अकेलेपन ने दस्तक दे दी थी. इसी के चलते 23 सितम्बर 1996 को उन्हें अपने घर में मृत पाया गया था. कहा जाता है कि उन्होंने आत्महत्या की थी. 

परवीन बॉबी 

परवीन बॉबी भी उन एक्ट्रेसेज में से एक हैं जिन्होंने अपनी जिंदगी में काफी दर्द झेले थे. लोगों की भीड़ में अकेला होना और प्यार की तलाश में भटकना उनकी जिंदगी का हिस्सा था. पर्दे पर परवीन के जलवे अलग थे. 70 के दशक में उनकी गिनती 'बांड और बिंदास' एक्ट्रेसेज में हुआ करती थी. उनका करियर भी जबरदस्त था और उन्हें अपनी फिल्मों में लेने के लिए मेकर्स की कतार लगी रहती थी. लेकिन प्यार के मामले में परवीन हमेशा बदकिस्मत ही  रहीं.

उनके नाम को कई बड़े एक्टर्स के साथ जोड़ा गया. इसमें डैनी डेंजोंगपा, कबीर बेदी और डायरेक्टर महेश भट्ट शामिल थे. लेकिन उनका कोई भी रिश्ता ज्यादा नहीं चला. उन्हें पैरानॉयड सेजोफ्रेनिया हो गया था, जिसकी वजह से उनकी हालत खराब हो गई थी. परवीन ज्यादातर समय डर में बिताने लगी थीं. वह सब चीजों से दूर यूएस चली गई थीं. इसके बाद जब वह वापस आईं तो उन्हें लगता था कि सब मिलकर उनके खिलाफ षड्यंत्र रच रहे हैं. अपने आखिरी समय में परवीन एकदम अकेली थीं. यहां तक कि उनकी आखिरी इच्छा भी अधूरी रह गई थी. परवीन अपने घर के कमरे में मृत पाई गई थीं. तीन दिन बाद उनकी मौत के बारे में उनके पड़ोसियों को पता चला था. ऑटोप्सी में पता चला था कि उनके पेट में सिर्फ शराब थी और खाने का एक दाना भी नहीं था.     

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें