scorecardresearch
 

लक्ष्मी बॉम्ब में ट्रांसजेंडर का रोल प्ले करने के लिए अक्षय को किससे मिली मदद, बताया

जब अक्षय से इस किरदार को प्ले करने के उनके अनुभव के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि- मुझे फिल्म इंडस्ट्री में 30 साल हो गए हैं पर लक्ष्मी के किरदार ने मेरे दिमाग में तगड़ा प्रभाव छोड़ा है. मगर किसी तरह मैंने ये मैनेज कर लिया.

लक्ष्मी बॉम्ब लक्ष्मी बॉम्ब

बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार ने इंडस्ट्री में लगभग 30 साल पूरे कर लिए हैं. इन 30 सालों में एक्टर ने एक्शन से लेकर रोमांस तक किया है. कॉमेडी से लेकर देशभक्ति से जुड़ी फिल्मों में काम किया है. मगर इन दिनों वे अपनी फिल्म लक्ष्मी बॉम्ब में प्ले किए गए रोल को लेकर खूब सुर्खियां बटोर रहे हैं. एक तरफ जहां फिल्म के टाइटल को लेकर देशभर में बवाल मचा हुआ है वहीं दूसरी तरफ फिल्म का ट्रेलर और ट्रेलर में अक्षय कुमार का ये जुदा कैरेक्टर ऑडिएंस को आकर्षित भी कर रहा है. 

जब अक्षय से इस किरदार को प्ले करने के उनके अनुभव के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि- मुझे फिल्म इंडस्ट्री में 30 साल हो गए हैं पर लक्ष्मी के किरदार ने मेरे दिमाग में तगड़ा प्रभाव छोड़ा है. मगर किसी तरह मैंने ये मैनेज कर लिया. इसके लिए मैं फिल्म के निर्देशक राघव लॉरेंस का शुक्रिया अदा करना चाहूंगा. उन्होंने मुझे किरदार के बारे में काफी गहनता से बताया. उन्होंने मुझे बताया कि मुझे इस रोल में कैसे चलना है, कैसे बातें करनी है, कैसे डांस करना है. उन्होंने ही मुझे इस किरदार में ढाला. मैंने पूरी तरह से उन्हें ही कॉपी किया. अगर ये फिल्म अच्छी चलती है तो इसका पूरा श्रेय राघव लॉरेंस को ही जाएगा.

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Three’s not always a crowd! Team #LaxmmiBomb with the real Laxmi on sets of #TheKapilSharmaShow today! @kiaraaliaadvani @laxminarayan_tripathi @kapilsharma

A post shared by Akshay Kumar (@akshaykumar) on

ऐसे पड़ा फिल्म का टाइटल लक्ष्मी बॉम्ब

बता दें कि ये फिल्म साल 2011 में आई तमिल फिल्म कंचना का रीमेक है. फिल्म के टाइटल को लेकर ही काफी विरोध देखने को मिल रहा है. फिल्म का टाइटल क्यों बदला गया इस पर बात करते हुए डायरेक्टर राघव लॉरेंस ने कहा कि- तमिल फिल्म का टाइटल फिल्म के लीड कैरेक्टर कंचना पर रखा गया था. कंचना का मतलब सोना होता है जिसका सीधा कनेक्शन मां लक्ष्मी से रहा है. हम पहले उसी नाम के साथ जाना चाहते थे फिर हमें लगा कि कुछ ऐसा नाम होना चाहिए जिससे हिंदी पट्टी की ऑडिएंस खुद को कनेक्ट कर सके. इस लिहाज से लक्ष्मी से ज्यादा बेहतर नाम और क्या हो सकता था. 

देखें: आजतक LIVE TV

इसके आगे बॉम्ब इस लिए लगाया गया क्योंकि ये शब्द फिल्म के पावरफुल ट्रांसजेंडर कैरेक्टर से मेल खाता है. इसलिए ये नाम परफेक्ट है. बता दें कि फिल्म के टाइटल को लेकर जो बवाल है वो इसी बात पर है कि हिंदू देवी लक्ष्मी के साथ बॉम्ब शब्द को क्यों जोड़ा गया है. कई लोग इसे हिंदू धर्म और मां लक्ष्मी का अपमान मान रहे हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें