scorecardresearch
 

Panchayat Aaj Tak Punjab: पंजाब में कैसे रुकेगा पलायन? केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने दिया जवाब

Punjab Assembly Elections 2022: पंजाब से पलायन सालों पहले शुरू हो गया था, लेकिन बीते कुछ वर्षो में नशा व बेरोजगारी के चलते इसमें तेजी आई है. पंजाब के युवाओं को पलायन से रोकने के लिए राजनीतिक पार्टियां कई तरह के वादे कर रही हैं.

X
पंचायत आज तक पंजाब में मीनाक्षी लेखी पंचायत आज तक पंजाब में मीनाक्षी लेखी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पंजाब में 117 सीटों पर 20 फरवरी को मतदान होंगे
  • किसान के मन में PM मोदी के लिए बहुत प्रेम हैः मीनाक्षी लेखी
  • अकाली दल के साथ ब्रेकअप पक्का हैः लेखी

Panchayat Aaj Tak Punjab: पंजाब विधानसभा की 117 सीटों पर 20 फरवरी को वोटिंग होगी. वोटिंग से पहले पंजाब में चुनाव प्रचार आखिरी दौर में है और राजनेताओं की बयान बाजी और एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. इन चुनावों में पलायन का मुद्दा तेजी से उठा है. 

पलायन के मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता मीनाक्षी लेखी ने कहा कि इसे रोकने के लिए सबसे पहले इस समस्या को समझना होगा. ज्यादातर पैसे वाले लोग ही पलायन कर रहे हैं. पैसे वाले लोग चाहते हैं कि उन्हें अच्छी सुविधा मिले इसलिए वो लोग पंजाब को छोड़कर अन्य देशों में जा रहे हैं. इसके लिए सबसे पहले इंफ्रास्ट्रक्चर को ठीक करना होगा.

हर चुनाव एक चैलेंज है

पंचायत आज तक पंजाब में बोलते हुए मीनाक्षी लेखी ने कहा, हर चुनाव एक चैलेंज है. मैं मानती हूं कि हर चुनाव एक चैलेंज है और हर चुनाव में एक स्ट्रेटजी, प्लानिंग और मेहनत लगती है. उन्होंने कहा कि पार्टी के लिए यह चुनाव जीतना और जनाधार दोनों को बढ़ाने का है.

शिरोमणि अकाली दल के साथ बीजेपी के गठबंधन पर बोलते हुए मीनाक्षी लेखी ने कहा कि यह पुराना साथ है. उस समय का गठबंधन है जब बीजेपी में दो या चार लोग थे. यह 1984 और देश में लगे आपातकाल के बाद की कहानी है और वो बुरे दौर के साथी हैं इसलिए जो भी बदलाव होते हैं उसे निभाना पड़ता है. इन चुनावों में अगर अकाली दल हमारे साथ नहीं है तो कोई बात नहीं थैंक्यू.

चुनाव में क्या दिखेगा किसान आंदोलन का असर?

किसान आंदोलन की जो खटास है वो क्या इन चुनावों में भी देखने को मिल रही है? इस सवाल का जवाब देते हुए मीनाक्षी लेखी ने कहा, 'किसान के मन में बीजेपी और पीएम मोदी के लिए काफी इज्जत है. इसका मुख्य कारण है कि 23 लाख छोटे किसान जो पंजाब में हैं उन्हें आज तक किसी ने पूछा नहीं था, लेकिन आज उनके खाते में 6000 रुपये दिए जा चुके हैं. आज एमएसपी बढ़ चुकी है इसलिए किसान खुश हैं.'

उन्होंने कहा कि आज किसानों को यूरिया, सोयल टेस्टिंग के मसलों का फायदा उन्हें मिला है. आज जनता को मालूम है कि अच्छी सरकार का क्या मतलब होता है, क्योंकि पहले वाली सरकार बहुत दूर रहती थी. 

केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने कहा, आज हम लोग आम जनता के साथ उन्हीं की तरह घूमते हैं. जब लोग हमसे ऐसे मिलते हैं तो उन्हें लगता है कि नेता ऐसे होते हैं.

आम आदमी पार्टी पर भी साधा निशाना

आप आदमी पार्टी पर निशाना साधते हुए मीनाक्षी लेखी ने कहा, 'दिल्ली में भी उस पार्टी की इतना पहुंच नहीं है. दिल्ली में निगम और लोकसभा चुनाव में बीजेपी जीतती है. पंजाब के लोग इस तरह की राजनीति को बिल्कुल भी पसंद नहीं करती है. पंजाब के लोग झूठ और फरेब से बहुत दूर रहते हैं. विज्ञापन और झूठे वादों के जरिए पंजाब की जनता को खरीदा नहीं जा सकता है.'  उन्होंने कहा, 'पंजाब के लोगों को योजनाएं चाहिए, काम करने की. ये यहां की मानसिकता है कि हमें कम चाहिए लेकिन मेहनत का चाहिए. फालतू का नहीं चाहिए. पंजाब के लोगों को एक उम्मीद चाहिए जिससे वो लोग आगे बढ़ सकें.'

अकाली दल के साथ ब्रेकअप पक्का है

मीनाक्षी लेखी ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल के साथ ब्रेकअप पक्का है और क्योंकि हमने ज्यादातर सीटों पर अकाली दल के विपक्ष में उम्मीदवार उतारे हैं. उन्होंने कहा कि कुछ बातें बिल्कुल स्पष्ट है और वो चीजें नहीं होगी. बीजेपी पंजाब में एनडी के फॉर्मेट में सरकार बनाएगी.
 

ये भी पढ़ेंः-

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें