scorecardresearch
 

शरद पवार बोले: मैं ज्योतिषी नहीं, लेकिन कम वोटिंग का एनसीपी को होगा फायदा

महाराष्ट्र की 288 सीटों पर वोटिंग जारी. एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने मुंबई के ताड़देव इलाके में वोटिंग करने के बाद कहा कि मालाबार पहाड़ी इलाके में सामान्य रूप से वोटिंग प्रतिशत कम रहता है, लेकिन महाराष्ट्र के बाकी हिस्से में लोग वोट करने के लिए बाहर निकल रहे हैं.

एनसीपी प्रमुख शरद पवार एनसीपी प्रमुख शरद पवार

  • मुंबई के ताड़देव इलाके में शरद पवार ने किया मतदान

  • शरद पवार बोले- कम वोटिंग से होगा हमें फायदा
  • महाराष्ट्र में एनसीपी 125 सीटों पर लड़ रही है चुनाव

महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों पर वोटिंग जारी है. यहां मुख्य चुनावी मुकाबला बीजेपी-शिवसेना बनाम कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन के बीच है. एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने खुद ही पार्टी के चुनाव प्रचार की कमान संभाल रखी थी. शरद पवार ने मुंबई के ताड़देव इलाके में वोटिंग करने के बाद कहा कि मालाबार पहाड़ी इलाके में सामान्य रूप से वोटिंग प्रतिशत कम रहता है, लेकिन महाराष्ट्र के बाकी हिस्से में लोग वोट करने के लिए बाहर निकल रहे हैं.

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने दावा किया है कि वोटिंग प्रतिशत कम होने से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है. इससे हमें ही फायदा मिलेगा और हम जीतकर आएंगे. उन्होंने कहा कि बीजेपी दावा करती है कि वह भ्रष्टाचार मुक्त सरकार दे रही, लेकिन इस सरकार में भी कई भ्रष्टाचार के मामले सामने आए हैं. हालांकि बीजेपी खुद अपने को क्लीन चिट दे रहे हैं, ऐसे में हम न्याय की उम्मीद कैसे रख सकते हैं.

वंशवाद की राजनीति के सवाल पर शरद पवार ने कहा कि लोग इस तरह के नेताओं की तलाश करते हैं, जिन्हें वो जानते हैं कि उनकी समस्याओं को हल कर सकते हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि वह कोई ज्योतिष नहीं है जो सीटें के नंबर बताएं.

बता दें कि शरद पवार के राजनीतिक सफर में इस बार का महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव सबसे बड़ी चुनौती भरा माना जा रहा है. एनसीपी के तमाम नेता पार्टी छोड़कर बीजेपी और शिवसेना का दामन थाम लिया, जिसके चलते पवार के सामने पार्टी के वजूद को बचाए रखने की चुनौती है. एनसीपी इस बार कांग्रेस के साथ मिलकर चुनावी मैदान में उतरी है और पार्टी ने 125 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे हैं. नतीजे 24 अक्टूबर को आएंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें