scorecardresearch
 

वडोदरा की मांजलपूर विधानसभा सीट: बीजेपी, कांग्रेस और आप तीनों के लिए चुनौती 

यहां बीजेपी लगातार पिछले दो चुनाव में जीतती आई है. पिछले दो टर्म से मांजलपूर की विधानसभा सीट पर योगेश पटेल जीत रहे हैं. मांजलपूर विधानसभा सीट 2012 में नए सीमांकन के बाद बनी थी, वडोदरा की राउपुरा विधानसभा सीटऔर वडोदरा शहर की सीट के कुछ गांव को मिलाकर इस विधानसभा सीट का निर्माण किया गया था.

X
प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

गुजरात में जल्द ही विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं, वैसे मध्य गुजरात की वडोदरा के शहरी इलाके की  मांजलपूर सीट पर इस बार राजनौतिक गहमा गहमी काफी ज्यादा देखने को मिल सकती है. इस बार यहां बीजेपी और कांग्रेस के साथ आम आदमी पार्टी भी चुनावी मैदान में है.   

वैसे गुजरात के वडोदरा की 145 नंबर सीट यानी मांजलपूर है. यहां बीजेपी लगातार पिछले दो चुनाव में जीतती आई है. पिछले दो टर्म से मांजलपूर की विधानसभा सीट पर योगेश पटेल जीत रहे हैं. मांजलपूर विधानसभा सीट 2012 में नए सीमांकन के बाद बनी थी, वडोदरा की राउपुरा विधानसभा सीटऔर वडोदरा शहर की सीट के कुछ गांव को मिलाकर इस विधानसभा सीट का निर्माण किया गया था. इस सीट के बनने के बाद से ही यहां दोनों ही चुनाव में बीजेपीने ही जीत दर्ज की हैं.  

मांजलपूर विधानसभा सीट वडोदरा लोकसभा सीट में आती है, इस सीट पर कुल 231682 मतदाता है, जिसमें 120311 पुरुष और 111370 महिला हैं. शहरी इलाके के इस सीट पर SC और ST लोगों की संख्या भी अच्छी खासी है. योगेश पटेल 2012 तक राउपुरा विधानसभा सीट से विधायक के तौर पर चुनाव जीतते आए थे. 2017 के चुनाव में योगेश पटेल को 105036 वोट मिले थे, जबकी उनके सामने खड़े कांग्रेस के उम्मीदवार चिराग जवेरी को 48674 वोट मिले थे.  

योगेश पटेल यहां लगातार पिछले 7 टर्म से यहां पर चुनाव जीतते आए हैं. इस बार पहले से ही योगश पटेल ने राजनैतिक सन्यास की घोषणा की है. अब वो सिर्फ संगठन के लिए काम करेंगे. वैसे में बीजेपी भी यहां पर योगश पटेल जैसे मजबूत उम्मीदवार को ढूंढ रही हैं. तो वहीं कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के लिए भी यह सीट एक बड़ी चुनौती है. 
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें