scorecardresearch
 

मनिहारी विधानसभा सीट पर 62.8% वोटिंग, यहां कांग्रेस का रहा है वर्चस्व

2015 में मनिहारी से कांग्रेस के मनोहर प्रसाद सिंह दूसरी बार जीते थे. पिछले चुनाव में उन्होंने LJP के अनिल कुमार को 13,680 वोटों से हराया था. मनोहर प्रसाद 2010 में JDU के टिकट पर जीते थे.

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (फाइल फोटो) बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 1957 में मनिहारी सीट पर पहली बार चुनाव हुआ था
  • मनिहारी सीट पर अब तक 16 बार चुनाव हुए हैं
  • 2015 में कांग्रेस के मनोहर प्रसाद सिंह जीते थे

बिहार चुनाव के नतीजे 10 नवंबर को आ रहे हैं. कटिहार जिले की मनिहारी सीट को लेकर चर्चाएं जोरों पर हैं. तीसरे चरण में यहां 62.8% वोटिंग हुई है. फिलहाल ये सीट कांग्रेस के पास है. इस बार मनिहारी सीट से 31 नामांकन दाखिल हुए थे. इसमें 17 को स्वीकार किया गया, जबकि 14 रिजेक्ट कर दिए गए. इस चुनाव में अनिल कुमार (LJP,) मनोहर प्रसाद (कांग्रेस) और शम्भू कुमार सुमन (JDU) के बीच टक्कर मानी जा रही है. 

इस सीट पर अब तक 16 बार चुनाव हुए हैं, जिसमें उपचुनाव भी शामिल है. इनमें 6 बार कांग्रेस, 3-3 बार जेडीयू व प्रजा सोशलिस्ट पार्टी और एक-एक बार जनता दल, जनता पार्टी, जनता पार्टी (जेपी) और सोशलिस्ट पार्टी जीती है. 

एग्जिट पोल में किसे कितनी सीट?

•    महागठबंधन को 139 से 161 सीटें
•    एनडीए को 69 से 91 सीटें 
•    लोजपा को 3 से 5 सीटें 
•    GDSF को 3 से 5 सीटें
•    अन्य को 3 से 5 सीटें 

2015 में मनिहारी से कांग्रेस के मनोहर प्रसाद सिंह दूसरी बार जीते थे. पिछले चुनाव में उन्होंने LJP के अनिल कुमार को 13,680 वोटों से हराया था. मनोहर प्रसाद 2010 में JDU के टिकट पर जीते थे. 2006 में यहां उपचुनाव हुए थे, जिसमें JDU के विश्वनाथ सिंह ने बाजी मारी थी. 

1957 में मनिहारी सीट पर पहली बार चुनाव हुआ था, जिसमें कांग्रेस की पार्वती देवी विधायक चुनी गई थीं. इस सीट पर बीजेपी आज तक नहीं जीत सकी है. इस विधानसभा क्षेत्र में मुस्लिम अहम भूमिका में हैं. यादव, ब्राह्मण, कोइरी, पासवान और यादव की संख्या भी अच्छी है. 

विधायक- मनोहर प्रसाद सिंह
पार्टी-  कांग्रेस
वोटरों की संख्या- 2,47,205
पुरुष वोटर -  1,31,629
महिला वोटर-  1,15,566

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें