scorecardresearch
 

बोगो सिंह: ऐसा बाहुबली जिसने अपनी सरकार के अफसरों को ही कह दिया था 'कफनचोर'

मटिहानी सीट से बोगो सिंह साल 2005 से ही विधानसभा चुनाव जीतते आए हैं. 2005 में बाहुबली बोगो सिंह निर्दलीय चुनाव जीत कर विधानसभा पहुंचे थे जबकि साल 2010 और 2015 के चुनाव में उन्होंने जेडीयू के टिकट पर जीत दर्ज की थी.

बाहुबली विधायक बोगो सिंह बाहुबली विधायक बोगो सिंह
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जीत की हैट्रिक लगा चुके हैं बाहुबली जेडीयू विधायक बोगो सिंह
  • बेगूसराय के मटिहानी विधानसभा सीट से हैं विधायक
  • अपनी सरकार के अधिकारियों को कह चुके हैं 'कफनचोर'

बिहार के बेगूसराय को बाहुबलियों के गढ़ के तौर पर जाना जाता है और यहां की राजनीति पर हमेशा से दबंगों का साया रहा है. ऐसे ही एक विधायक हैं नरेंद्र कुमार सिंह उर्फ बोगो सिंह जिनके बिना बेगूसराय की राजनीति पूरी नहीं होती है.

लगा चुके हैं जीत की हैट्रिक

बेगूसराय की मटिहानी विधानसभा सीट से सत्ताधारी पार्टी जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) के विधायक बोगो सिंह अपनी ही सरकार में अफसरों पर भड़कने से नहीं हिचकिचाते और कोरोना काल में तो उन्हें 'कफन चोर' तक कह दिया था. मटिहानी सीट से बोगो सिंह साल 2005 से ही विधानसभा चुनाव जीतते आए हैं. 2005 में बाहुबली बोगो सिंह निर्दलीय चुनाव जीत कर विधानसभा पहुंचे थे जबकि साल 2010 और 2015 के चुनाव में वो जेडीयू के टिकट पर जीतकर विधानसभा पहुंचे.

कोरोना काल में सरकारी अफसरों को तीन महीने तक कमीशन नहीं लेने का बयान देकर बोगो सिंह सुर्खियों में आ गए थे. उन्होंने कहा था कि महामारी के दौर में गरीबों के कफन बेचकर अधिकारी कमीशन खोरी कर वो पैसे अपने बच्चों को देंगे तो वो राशि अफसरों के लिए कफन ही होगा. कोरोना काल में अफसरों की लापरवाही पर बरसते हुए वो खुद यंत्र लेकर अपने विधानसभा क्षेत्र को सैनिटाइज करने निकल पड़े थे.

बीते दिनों वो उस वक्त भी सुर्खियों में आ गए थे जब एक कार्यक्रम में उनके डांस का वीडियो पूरे देश में वायरल हो गया था. हालांकि, उन्होंने बाद में सफाई दी थी कि वीडियो में वो नहीं थे बल्कि उनके जैसा दिखने वाला कोई और शख्स था.

2014 के लोकसभा चुनाव में बेगूसराय से ही लेफ्ट के प्रत्याशी कन्हैया कुमार को बोगो सिंह ने वामपंथी पार्टी का बंदर करार दे दिया था.

अपराधों की लंबी फेहरिस्त

जेडीयू विधायक बोगो सिंह के अपराधों की लंबी फेहरिस्त है और उनपर हत्या, हत्या की धमकी, डकैती समेत कई आपराधिक मामले दर्ज हैं. चुनावी हलफनामे में दी गई जानकारी के मुताबिक साल 2005 में उनपर 12, साल 2009 में 11 और 2015 में 15 केस दर्ज थे. 

जेडीयू विधायक बोगो सिंह के खिलाफ हत्या के तीन मामले (आईपीसी सेक्शन 302), हत्या की कोशिश का एक मामला (आईपीसी सेक्शन 307), डकैती (आईपीसी सेक्शन 392), फर्जी सबूत और हत्या की धमकी देने के मामले अलग-अलग थानों में दर्ज हैं. 

हालांकि, अभी तक किसी भी मामले में बाहुबली बोगो सिंह पर आरोप साबित नहीं हुए हैं. यही वजह है कि उन्हें कोर्ट से किसी भी मामले में कोई सजा नहीं मिली है.

कितनी है संपत्ति

बाहुबली विधायक बोगो सिंह की अगर संपत्ति की बात करें तो चुनावी हलफनामे के मुताबिक साल 2005 के विधानसभा चुनाव में उनकी संपत्ति 66 लाख 27 हजार रुपये थी. वहीं लोकसभा चुनाव 2009 के हलफनामे के मुताबिक उनकी संपत्ति बढ़कर 1 करोड़ 11 लाख 37 हजार रुपये हो गई. वहीं 2015 के विधानसभा चुनाव में दी गई जानकारी के मुताबिक उनकी संपत्ति बढ़कर 5 करोड़ 61 लाख, 97 हजार रुपये हो गई.

बाहुबली विधायक बोगो सिंह को गाड़ियों का भी शौक है. उनके पास एक आईकॉन कार, 2 स्कॉर्पियो एसयूवी, एक बोलेरो, एक ट्रैक्टर और एक बीट कार है. बोगो सिंह के पास कृषि योग्य भूमि भी है. 

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें