scorecardresearch
 

ममता सरकार का बड़ा तोहफा, सरकारी कर्मचारियों के DA में तीन फीसदी बढ़ोतरी का ऐलान

बंगाल में अगले साल चुनाव होना है और इस बार बीजेपी बंगाल में टीएमसी के लिए चुनौती बनकर उभरी है. ऐसे में टीएमसी वोटरों को लुभाने का कोई मौका नहीं छोड़ रही है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फाइल फोटो) पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जनवरी से सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा लाभ
  • टीएमसी वोटरों को लुभाने का कोई मौका नहीं छोड़ रही
  • कृषि कानूनों के खिलाफ टीएमसी करेगी प्रदर्शन

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सरकार कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है. ममता सरकार ने सरकारी कर्मचारियों के DA (महंगाई भत्ता) में जनवरी से तीन फीसदी बढ़ोतरी की घोषणा की है. 

गौरतलब है कि बंगाल में अगले साल चुनाव होना है और इस बार बीजेपी बंगाल में टीएमसी के लिए चुनौती बनकर उभरी है. ऐसे में टीएमसी वोटरों को लुभाने का कोई मौका नहीं छोड़ रही है.

केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ भी ममता मुखर हो कर बोल रही हैं. ममता बनर्जी ने इसके लिए शुक्रवार को पार्टी की बड़ी बैठक बुलाई. बंगाल में तृणमूल कांग्रेस इन कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेगी. 

कृषि कानूनों के खिलाफ उत्तर भारत में किसान लगातार आंदोलन कर रहे हैं, जिनका अब ममता ने भी समर्थन कर दिया है. ममता बनर्जी ने कहा कि उन्हें किसान और खेती को लेकर काफी चिंता है, केंद्र सरकार को इन कानूनों को तुरंत वापस लेना चाहिए. ममता ने चेतावनी दी कि अगर ऐसा नहीं होता है तो बंगाल और देश के अन्य हिस्सों में बड़ा आंदोलन खड़ा होगा. 

'दुआरे-दुआरे पश्चिम बोंगो सरकार'

सत्ता को बचाए रखने लिए ममता बनर्जी ने 'दुआरे-दुआरे पश्चिम बोंगो सरकार' (हर द्वार बंगाल सरकार) अभियान का आगाज मंगलवार को किया है. दो महीने के तक चलने वाले इस अभियान के जरिए ममता सरकार की अपनी उपलब्धियों और योजनाओं को शहर से लेकर गांव के हर घर तक पहुंचाने की रणनीति है. पीएम मोदी की आयुष्मान भारत योजना के जवाब में ममता की 'स्वास्थ्य साथी' योजना सहित 11 योजनाओं का लाभ इस अभियान के लगाए गए कैंपों से उठा सकते हैं. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें