scorecardresearch
 

टाइम्स हायर एजुकेशन रैंकिंग में IIT नहीं लेंगे हिस्सा, ये है वजह

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) इस साल टाइम्स हायर एजुकेशन वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में हिस्सा नहीं लेगा. जानें- क्या है वजह

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) इस साल टाइम्स हायर एजुकेशन वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में हिस्सा नहीं लेगा. इस बात की जानकारी प्रेस रिलीज जारी कर दी गई है.

इसमें आईआईटी बॉम्बे, आईआईटी दिल्ली, आईआईटी गुवाहाटी, आईआईटी कानपुर, आईआईटी खड़गपुर, आईआईटी मद्रास और आईआईटी रुड़की शामिल है. इन सभी ने 'टाइम्स हायर एजुकेशन द वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग' में में भी भाग नहीं लेने का फैसला किया है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

ये निर्णय इसलिए लिया गया है कि क्योंकि टाइम्स हायर एजुकेशन आईआईटी को रैंकिंग प्रक्रिया को समझाने में असफल रहा है. ऐसे में आईआईटी ने कहा, कि वह अगले साल अपने फैसले पर पुनर्विचार कर सकते हैं यदि टाइम्स हायर एजुकेशन उन्हें अपनी रैंकिंग प्रक्रिया में मापदंडों और पारदर्शिता के बारे में समझाने में सक्षम हो जाएं.

पिछले साल सितंबर महीने में टाइम्स हायर एजुकेशन वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग ने साल 2020 के लिए दुनिया की सबसे टॉप यूनिवर्सिटी की लिस्ट जारी की थी, जिसमें 2012 के बाद पहली बार ऐसा हुआ था वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2020 में टॉप 300 में भारत की एक भी यूनिवर्सिटी शामिल नहीं थी.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

इस रैंकिंग में इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी, रोपड़, इंदौर ने पहली बार में ही टॉप (301-350) में जगह बनाई थी. इन दो संस्थानों ने शोध उद्धरणों में उच्च स्कोर बनाए हैं - IIT रोपड़ को 100 जबकि IIT इंदौर ने अनुसंधान उद्धरण मापदंड में 77 अंक हासिल किए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें