scorecardresearch
 

7.51 लाख कीमत के इस खास बैग के बारे में जानकर इन बच्चों पर होगा गर्व

उत्तर प्रदेश के इन तीन छात्रों ने पूरे एक साल की मेहनत के बाद ये खास बैग तैयार किया है. बैग अपने विशेष कारणों से गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज हो गया है. स्टूडेंट ये बैग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गिफ्ट कर रहे हैं. जानें क्या है खासियत.

ये है बैग की तस्वीर ये है बैग की तस्वीर

उत्तर प्रदेश के इन तीन छात्रों ने पूरे एक साल की मेहनत के बाद ये खास बैग तैयार किया है. बैग अपने विशेष कारणों से गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज हो गया है. स्टूडेंट ये बैग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गिफ्ट कर रहे हैं. जानें क्या है खासियत.

यूपी के छात्रों ने विश्व का सबसे बड़ा इको फ्रेंडली शॉपिंग बैग बनाकर पूरी दुनिया में भारत का नाम रोशन किया है. यूपी के गाज़ियाबाद के इन तीन छात्र-छात्राओं ने विश्व का सबसे बड़ा इको फ्रेंडली शॉपिंग बैग बनाकर गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कर दिया है.

पुरस्कार लेते तीनों बच्चे राधे, खुशी और वैष्णवी

पुरस्कार लेते तीनों बच्चे राधे, खुशी और वैष्णवी

ये तीन बच्चे हैं राधे, खुशी और वैष्णवी. इन दोनों बच्चों में से राधे और खुशी गाजियाबाद के वैशाली सेक्टर 1 के सन वैली इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ते हैं, वहीं वैष्णवी दिल्ली विश्वविद्यालय के मिरांडा हाउस कॉलेज से पढ़ाई कर रही हैं. इनके पिता राज वर्मा का कपड़े का एक्सपोर्ट का व्यवसाय है.

इन बच्चों ने साल 2018 में स्वच्छ भारत अभियान के तहत विश्व के सबसे बड़े इको-फ्रेंडली शॉपिंग बैग बनाने का निर्णय लिया था. इसमें इन्हें सफलता भी मिली. ये बच्चे अपनी पढ़ाई के साथ साथ पहले से पर्यावरण के लिए लोगों को जागरूक करने की मुहिम चला रहे हैं. ये बैग बनाने के लिए भी इन बच्चों ने अपनी पढ़ाई के बीच से समय निकालकर इसमें मेहनत की है. उनकी इस मेहनत को अब हर तरफ सराहा जा रहा है.

इन बच्चों ने वर्ष 2018 में इस बैग का निर्माण शुरू किया. इसे बनाने में लगभग डेढ़ महीने का समय लगा. वहीं कीमत की बात करें तो इस पर करीब 7.51 लाख रुपये की लागत आई. इस बैग की ऊंचाई करीब 300 फीट और चौड़ाई 140 फीट है. ये छात्र इस बैग को स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को समर्पित करना चाहते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें