scorecardresearch
 

देश के इस राज्य में नहीं खुलेंगे स्कूल, जनता से पूछकर सरकार लेगी फैसला

कोरोना संकट के बाद देशभर के राज्य सितंबर से स्कूल खोलने की तैयारी कर रहे हैं. हालांकि पेरेंट्स के दबाव और सरकार की च‍िंता को देखते हुए अभी ये संभव नहीं लग रहा. लेकिन वहीं कर्नाटक सरकार ने स्कूल खोलने से मना कर दिया है.

केरल के एक स्कूल का खाली पड़ा क्लासरूम केरल के एक स्कूल का खाली पड़ा क्लासरूम

कोरोना संकट को देखते हुए तमिलनाडु के स्कूल शिक्षा मंत्री KA Sengottaiyan ने कहा कि मौजूदा स्थिति में स्कूलों को फिर से खोलने की संभावना नहीं है. उन्होंने कहा कि COVID-19 के संक्रमण में कमी आने के बाद स्कूलों को पेरेंट्स व जनता की राय के अनुसार बाद में खोला जाएगा.

मौजूदा हालातों में स्कूलों को फिर से खोलने की कोई उम्मीद नहीं है. कोरोना का संक्रमण जब कम हो जाएगा तब पहले अभ‍िभावकों से राय आमंत्र‍ित की जाएगी. अगर वैक्सीन नहीं बनती है तो फिर बिना जनता की सहमति के स्कूल नहीं खोले जाएंगे.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

बता दें कि देश भर के पेरेंट्स काेरोना संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए सरकार से मांग कर रहे हैं कि जब तक वैक्सीन या कोरोना की कोई दवा न तैयार हो जाए तब तक स्कूल न खोले जाएं. ऐसे हालात में किसी भी तरह से बच्चों की सेहत के साथ समझौता नहीं किया जा सकता. वहीं केंद्र सरकार ने भी ऑनलाइन श‍िक्षा को जन-जन तक पहुंचाने के लिए कई ऑनलाइन पोर्टल भी लांच किए हैं.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

इससे पहले गृह मंत्रालय ने हाल ही में अनलॉक-3 के लिए गाइडलाइन्स जारी की थीं. इन गाइडलाइन्स के अनुसार स्कूल, कॉलेज और सभी कोचिंग संस्थान 31 अगस्त तक बंद रहेंगे. दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि शैक्षणिक संस्थानों को न खोलने का निर्णय राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ व्यापक परामर्श के बाद लिया गया है. हालांकि सरकार इसे आगे भी बढ़ा सकती है.

MHA की अनलॉक- 3 (Unlock 3) की गाइडलाइन्स में कहा गया है कि राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ व्यापक परामर्श के बाद यह निर्णय लिया गया है कि स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान 31 अगस्त, 2020 तक बंद रहेंगे.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के चलते देशभर के सभी स्कूल और कॉलेज मार्च के महीने से ही बंद हैं. कोरोना वायरस की वजह से बच्चे घरों में रहने पर मजबूर हैं. ऐसे में पढ़ाई के नुकसान को कम करने के लिए सभी स्टूडेंट्स को ऑनलाइन ही पढ़ाया जा रहा है. कई अहम परीक्षाएं भी ऑनलाइन ही आयोजित कराई जा रही हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें