scorecardresearch
 

नियुक्ति‍ से 24 घंटे पहले हजारों प्राइमरी टीचरों को झटका, रिजल्ट रद्द

CAT ने नियुक्ति से पहले हजारों परिवारों के सपने अचानक से धूमिल कर दिए. मंगलवार को जो टीचर जाकर अपनी नौकरी ज्वाइन करने वाले थे, सोमवार की शाम को अचानक उन्हें कुछ और ही आदेश मिल गया.

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

CAT ने नियुक्ति से पहले हजारों परिवारों के सपने अचानक से धूमिल कर दिए. मंगलवार को जो टीचर जाकर अपनी नौकरी ज्वाइन करने वाले थे, सोमवार की शाम को अचानक उन्हें कुछ और ही आदेश मिल गया.

सोमवार शाम को कैट (सेंट्रल एडमिनिस्ट्रेटिव ट्रिब्यूनल) से मिले एक आदेश के बाद निगम प्राथमिक शिक्षक नियुक्ति परीक्षा परिणाम को रद्द कर दिया गया है. इसके बाद तीनों निगमों में नियुक्त होने वाले शिक्षकों की भर्ती पर रोक लग गई है. बता दें कि इन 3788 शिक्षकों के लिए निगमों की ओर से नियुक्ति पत्र भी जारी कर दिए गए थे. इन सभी को जल्द से जल्द से ज्वाइन करना था.

इसलिए रद्द करना पड़ा रिजल्ट

इस शिक्षक नियुक्ति परीक्षा के अभ्यर्थी ने ट्रिब्यूनल को इस परिणाम को लेकर चुनौती दी थी. ये परीक्षा DSSSB

(Delhi Subordinate Services Selection Board) की ओर से ली गई थी. अभ्यर्थी ने दावा किया था कि अलग अलग बैच में परीक्षा आयोजित होने के बाद भी कई प्रश्न हर बैच में एक जैसे आए थे. पूरी तरह ऑनलाइन हुई इस परीक्षा में गड़बड़ी के आरोप के बाद इसमें लंबी सुनवाई चली थी.

ये है परीक्षा का पैटर्न

दिल्ली के तीनों निगमों में शिक्षकों की नियुक्ति के लिए दक्षिणी दिल्ली नगर निगम मुख्य नोडल एजेंसी है. डीएसएसएसबी के रिजल्ट आने के बाद तीनों नगर निगम में शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया को पूरा कर लिया गया था. सभी चयनित अभ्यर्थ‍ियों के दस्तावेजों के सत्यापन के साथ उनका मेडिकल और पुलिस सत्यापन भी निगम ने कराया था. बोर्ड ने पद संख्या 16/17 और 1/18 के लिए साल 2018 में सितंबर-अक्टूबर महीने में 4 चरणों में परीक्षा आयोजित की थी. इसमें जनरल कैटेगरी के लिए 1286, OBC के लिए 1057, अनुसूचित जाति के लिए 616, अनुसूचित जनजाति के लिए 659 और दिव्यांगों के लिए 170 प्रत्याशियों को चुना था.

अब नोडल एजेंसी दक्षिणी दिल्ली ने शिक्षकों को जारी किए गए नियुक्ति पत्र को रद्द करने की सार्वजनिक सूचना जारी कर दी है. इस बारे में उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने एक समाचार पत्र को बयान में कहा है कि उन्हें अभी कैट ऑर्डर की कॉपी नहीं मिली है. इसलिए उनकी तरफ से नियुक्ति पत्र को रद्द नहीं किया गया है. वहीं पूर्वी दिल्ली की तरफ से इस बारे में कोई बयान नहीं आया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें