scorecardresearch
 

अपनी तरक्की की राह में आप खुद तो नहीं बन रहे रोड़ा? भूलकर न करें ये काम

Personality Development: खुशहाल जीवन और तरक्की हर व्यक्ति को चाहिए. लेकिन कई बार अनजाने में ही हम अपनी खुशियों और तरक्की की राह में रोड़ा बन जाते हैं. इसके पीछे की वजह है खुद को माफ न करने की आदत. आइए जानते हैं आप कैसे अपने आपको माफ कर जीवन में आगे बढ़ सकते हैं.

X
How To Forgive Yourself (Representational Image)
How To Forgive Yourself (Representational Image)

हर व्यक्ति जीवन में कोई न कोई गलती जरूर करता है. लेकिन उस गलती के लिए खुद को बार-बार दोषी मान कर आप कहीं न कहीं अपने आपको ही नुकसान पहुंचाते हैं. जब आप किसी भी गलती के लिए खुद को बार-बार जिम्मेदार ठहराते हैं, आप जाने-अनजाने जीवन में एक जगह ही रुक जाते हैं. इसलिए लाइफ में आगे बढ़ने और तरक्की पाने के लिए जरूरी है कि आप खुद को माफ करना सीखें. 

हम दूसरों की गलतियों को माफ कर देते हैं, लेकिन खुद की गलतियों को माफ करने में हम बहुत सोचते हैं और बड़ी मुश्किलों के बाद भी खुद को माफ नहीं करते. आइए जानते हैं आप कैसे अपनी गलतियों के लिए खुद को माफ कर सकते हैं और एक खुशहाल जीवन जी सकते हैं. 

खुद की गलतियों की जिम्मेदारी लें: अपने आप को माफ करने के लिए जरूरी है कि आप अपनी गलतियों की जिम्मेदारी लें. आपने जो किया है या जो हुआ है उसका सामना करना खुद को माफ करने की ओर पहला कदम है. यह सबसे कठिन कदम भी है. यदि आप अपनी गलतियों को छिपाने के लिए बहाने बना रहे हैं या उन्हें उचित ठहरा रहे हैं, तो यह समय है कि आपने जो किया है उसका सामना करें और स्वीकार करें की आपसे गलती हुई है. 

फीलिंग्स को स्वीकार करें: जब आप अपनी गलती की जिम्मेदारी लेते हैं तो स्वभाविक होता है कि आपको गिल्ट महसूस होता है. अपनी इस फीलिंग को आपको स्वीकार करना चाहिए. कोई भी गलती करने के बाद अपराधबोध महसूस करना बहुत अच्छी बात है. आपकी यही फीलिंग आपको एक बेहतर इंसान बनने में मदद करती है. अपराधबोध और पछतावे की ये भावनाएं आपको एक सकारात्मक व्यवहार की तरफ बढ़ने में मदद करती हैं. 

अपने अनुभवों से सीखें और आगे बढ़ें: अपने आप को क्षमा करने के लिए सबसे जरूरी है कि आप इस बात को मानें कि सबसे गलती होती है. लेकिन उस गलती के लिए बार-बार खुद को दोष देने की बजाय आपको अपनी गलतियों और अनुभवों से सीखना चाहिए और आगे बढ़ने की दिशा में काम करना चाहिए. आप जब अपने अनुभवों से सीखते हैं, आपके अंदर से धीरे-धीरे खुद को दोष देने की भावना खत्म होने लगती है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें