scorecardresearch
 

क्या दिल्ली के पेरेंट्स चाहते हैं कि खोले जाएं स्कूल? द‍िल्ली सरकार को मिली ये राय

जानकारी के मुताबिक दिल्ली सरकार को अपनी इस पहल पर जबरदस्त रिस्पांस मिला. 1 दिन के भीतर ही हजारों ईमेल दिल्ली सरकार को इस बारे में प्राप्त हुए हैं.

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली सरकार को आए 20 हजार से ज्यादा ई-मेल
  • खोले जा सकते हैं स्कूल

दिल्ली सरकार ने लोगों की राय इस बात को लेकर मांगी है कि क्या दिल्ली में कोरोना की दूसरी लहर के बाद स्कूलों को खोला जाए या नहीं. बुधवार को खुद उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस बारे में लोगों से जानकारी मांगी और साथ ही साथ एक ईमेल एड्रेस भी जारी किया जिसके जरिए लोग अपने सुझाव सरकार को भेज सकते हैं.

जानकारी के मुताबिक दिल्ली सरकार को अपनी इस पहल पर जबरदस्त रिस्पांस मिला. एक दिन के भीतर ही हजारों ईमेल दिल्ली सरकार को इस बारे में प्राप्त हुए हैं. वैसे तो अभी आने वाले कई दिनों तक लोग अपनी राय ईमेल के जरिए सरकार के पास भेज सकते हैं लेकिन शुरुआती जानकारी की मानें तो ज्यादातर लोग चाहते हैं कि दिल्ली में स्कूलों को खोल दिया जाये.

दिल्ली सरकार को मिले 20 हजार से ज्यादा ई-मेल!

सूत्रों के मुताबिक लगभग 20,000 से ज्यादा ईमेल दिल्ली सरकार को अब तक इस मामले में मिल चुके हैं और उनमें से ज्यादातर लोगों की राय यही है कि बच्चों की शिक्षा स्कूल बंद होने के कारण प्रभावित हो रही है. इसलिए तमाम सावधानी को बरतते हुए स्कूल खोले जाने पर विचार सरकार को जरूर करना चाहिए.

दिल्ली के मुख्यमंत्री वैसे पहले कह चुके हैं कि उनके मुताबिक स्कूलों को खोले जाने के लिए सबसे बेहतर परिस्थिति तभी होती जब सभी बच्चों को टीका लग जाता है. उसके बिना स्कूलों को खोलना निश्चित तौर पर कई तरीके की चिंताओं को बढ़ा सकता है. लेकिन उसके बाद दिल्ली सरकार ने इस पूरे मसले पर पुनर्विचार का फैसला इसलिए लिया क्योंकि लोगों के सुझाव यह आ रहे थे कि बाकी राज्यों की तर्ज पर दिल्ली सरकार की स्कूल क्यों नहीं खोल रही है.

हो सकता है स्कूल खोलने पर विचार

अब जबकि ज्यादातर पेरेंट्स ये राय रख रहे हैं की बच्चों की शिक्षा प्रभावित होने की वजह से स्कूलों को खोला जाना नहीं होगा तो आने वाले दिनों में दिल्ली सरकार भी इस बाबत फैसला लेने का सोच सकती है. साथ ही साथ अगर जरूरी हुआ तो सख्त दिशा निर्देशों के साथ स्कूल खोलने पर विचार भी किया जा सकता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें