scorecardresearch
 

Kaivalya Vohra: कॉलेज छोड़ खड़ी कर दी हजार करोड़ की कंपनी, 19 की उम्र में बने अरबपति

Kaivalya Vohra Zepto: कैवल्‍य बेंगलुरू में पैदा हुए और अपनी स्‍कूली पढ़ाई दुबई से पूरी की. इसके बाद उन्‍होंने स्‍टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन में दाखिला लिया मगर 2020 में अपने दोस्‍त आदित के साथ स्‍टार्टअप करने के लिए कॉलेज छोड़ दिया. वहीं आदित ने 17 साल की उम्र से ही स्‍टार्टअप शुरू कर दिए थे.

X
Kaivalya Vohra (Left) with Aadit Palicha (Right)
Kaivalya Vohra (Left) with Aadit Palicha (Right)

Success Story: क्विक डिलीवरी स्टार्टअप Zepto के को-फाउंडर्स कैवल्य वोहरा और आदित पालिचा, IIFL Wealth Hurun India Rich List 2022 में शामिल होने वाले सबसे कम उम्र के आंत्रेपेन्‍योर्स बन गए हैं. 19 साल की उम्र में, कैवल्या सबसे अमीर भारतीयों की लिस्‍ट में शामिल होने वाले सबसे कम उम्र के युवा बन गए हैं. हुरुन लिस्‍ट में कैवल्य 1,000 करोड़ की संपत्ति के साथ 1036वें स्थान पर है. आदित पालिचा 950वें स्थान पर हैं और उनकी कुल संपत्ति 1,200 करोड़ रुपये है.

दोनो पहले Forbes मैगजीन के प्रभावशाली "30 अंडर 30 (एशिया लिस्‍ट)" में ई-कॉमर्स कैटैगरी में फीचर हो चुके हैं. दोनों युवा आंत्रेपेन्‍योर हुरुन इंडिया फ्यूचर यूनिकॉर्न इंडेक्स 2022 में सबसे कम उम्र के स्टार्ट-अप फाउंडर भी हैं. कैवल्‍य और आदित को भारत के सबसे अमीरों की सूची में शामिल करना देश के स्टार्टअप्स के बढ़ते प्रभाव को दर्शाता है.

कॉलेज छोड़कर शुरू किया स्‍टार्टअप
कैवल्‍य बेंगलुरू में पैदा हुए और अपनी स्‍कूली पढ़ाई दुबई से पूरी की. इसके बाद उन्‍होंने स्‍टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन में दाखिला लिया मगर 2020 में अपने दोस्‍त आदित के साथ स्‍टार्टअप करने के लिए कॉलेज छोड़ दिया. वहीं आदित ने 17 साल की उम्र से ही स्‍टार्टअप शुरू कर दिए थे. 2018 में उन्‍होंने GoPool नाम से स्‍टूडेंट्स के लिए कार-पूल सर्विस की शुरूआत की. अपना स्टार्टअप शुरू करने से पहले वह प्राइवेसी पॉलिसीज़ पर एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) आधारित प्रोजेक्‍ट के प्रोजेक्ट लीड भी थे.

पहली कंपनी हुई बंद, दोबारा किया प्रयास
किरानाकार्ट के बंद होने के बाद, वर्ष 2021 में दोनो ने Zepto की शुरूआत की. ये भी किराने की डिलीवरी की ऐप थी. कंसप्‍ट था 'जेप्‍टोसेकेंड' में यानी बेहद तेज किराने की डिलीवरी करना. 10 मिनट में ग्रॉसरी डिलीवरी ने गेम ही बदल दिया. प्‍लेटफॉर्म ने नवंबर 2021 में फंडिंग के जरिए 486 करोड़ रुपये जुटाए. दिसंबर में एक और फंडिंग राउंड में 810 करोड़ और जुटाए. इस साल मई तक कंपनी का इवेल्‍यूएशन 7300 करोड़ तक पहुंच गए. अब Zepto 10 बड़े शहरों में 3000 से ज्‍यादा प्रोडक्‍ट्स डिलीवर कर रहा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें