scorecardresearch
 

Agniveer Rally: फर्जी तरीके से थी 'अग्निवीर' बनने की कोशिश, 14 मामले पकड़े गए

हरियाणा के हिसार में अग्निवीर भर्ती रैली के दौरान 14 उम्मीदवारों के फेक डॉक्यूमेंट्स का मामला सामने आया है. ये उम्मीदवार नकली एडमिट कार्ड का इस्तेमाल करके भर्ती रैली में शामिल होने की कोशिश कर रहे थे. एक बयान में कहा गया है कि ऐसे धोखेबाजों के खिलाफ सख्त कार्रवाई शुरू की जाएगी.

X
Agniveer recruitment rally (सांकेतिक तस्वीर)
Agniveer recruitment rally (सांकेतिक तस्वीर)

लाखों उम्मीदवार भारतीय सेना में शामिल होकर देश सेवा का सपना देखते हैं. सेना में शामिल होने के लिए दिन-रात कड़ी मेहनत और योग्यता की जरूरत होती है लेकिन कुछ लोग बिना किसी मेहनत के आर्मी की नौकरी पाने के चक्कर में लगे रहते हैं. शुक्रवार, 19 अगस्त को ऐसे ही कुछ उम्मीदवारों की पहचान की गई है, जो भारत के 'अग्निवीर' के लिए गलत रास्ता इस्तेमाल कर रहे थे.

दरअसल, 'अग्निपथ स्क्रीम' के तहत हरियाणा के हिसार में 'अग्निवीर भर्ती रैली' का आयोजन किया गया था. एजेंसी के अनुसार, यहां करीब 14 उम्मीदवारों द्वारा फेक डॉक्यूमेंट पेश करने का मामला सामना आया है. रिपोर्ट के मुताबिक, एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि शुक्रवार को इन फर्जी मामलों का पता चला.

यह आरोप लगाया गया है कि उम्मीदवारों ने फर्जी या छेड़छाड़ किए गए नकली एडमिट कार्ड के जरिए भर्ती अभियान में एंट्री करने की कोशिश की है.

बयान में कहा गया है कि भर्ती प्रक्रिया में सख्त सतर्कता और पारदर्शिता के कारण ये मामले पकड़े जा रहे हैं और ऐसे धोखेबाजों के खिलाफ सख्त कार्रवाई शुरू की जाएगी. हिसार में अग्निपथ योजना के तहत 12 अगस्त से शुरू हुई भर्ती रैली में बड़ी संख्या में अभ्यर्थी हिस्सा ले रहे हैं.

बता दें कि हाल ही में सरकार ने कहा है कि अग्निपथ योजना के तहत भारतीय सेना में अग्निवीरों की भर्ती के लिए अंबाला में एक भर्ती रैली के आयोजन की घोषणा की थी. यह रैली 25 अक्टूबर से 11 नवंबर तक सेना भर्ती मुख्यालय और अंबाला कैंट के खरगा स्टेडियम में होगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें