scorecardresearch
 

General Knowledge: QWERTY की बजाए ABCD फॉर्मेट में क्यों नहीं होता की-बोर्ड? जानिए वजह

Did You Know Keyboard Facts: आपने की-बोर्ड पर हमेशा QWERTY पैटर्न में ही लेटर्स देखे होंगे. QWERTY पैटर्न में लेटर्स को अरेंज करने की खास वजह है. आइए जानते हैं QWERTY की बजाए ABCD फॉर्मेट में क्यों नहीं होते की-बोर्ड पर लेटर्स.

X
Reason behind QWERTY Keyboard Reason behind QWERTY Keyboard

Why Keyboard Letters Are Not in Alphabetical Order: शहरों से लेकर गांव तक आज के समय में कंप्यूटर और लैपटॉप की दुनिया की तरफ बढ़ रहे हैं. ज्यादातर लोग आजकल लैपटॉप और कंप्यूटर की दुनिया से वाकिफ हैं. लेकिन क्या आपने कभी अपने कंप्यूटर या लैपटॉप के की-बोर्ड को ध्यान से देखा है? क्या आपने कभी सोचा है कि क्यों की-बोर्ड पर दिए गए लेटर्स QWERTY पैटर्न में अरेंज होते हैं?

की-बोर्ड पर हम रोजाना टाइप करते हैं. हमने इस बात पर कभी न कभी जरूर गौर किया होगा कि की-बोर्ड पर दिए गए लेटर्स एल्फाबेटिकल ऑर्डर में नहीं दिए होते. सारे की-बोर्ड QWERTY पैटर्न में आते हैं. आइए जानते हैं ऐसा क्यों होता है. 

की-बोर्ड पर ABCD की बजाए QWERTY पैटर्न में बटन देने के पीछे की वजह है टाइपराइटर. पहले के जमाने में टाइपराइटर्स पर ABCD पैटर्न में बटन हुआ करते थे. ABCD पैटर्न के चलते प्रोफेशनल टाइपराइटर्स बहुत तेजी में टाइप करते थे. सारे बटन लाइन में होने की वजह से उनकी टाइपिंग स्पीड बेहद ज्यादा होती थी. आमतौर पर इस्तेमाल होने वाले बटनों को बार-बार जल्दी-जल्दी दबाने से कई बटन जाम हो जाते थे. इसी वजह से की-बोर्ड पर एल्फाबेटिकल ऑर्डर में लेटर्स नहीं होते.

QWERTY में होने का क्या है फायदा?
की-बोर्ड पर QWERTY पैटर्न में बटन देने की वजह टाइपिंग स्पीड को कम करने की थी ताकि की-बोर्ड पर बटन खराब न हों. QWERTY की-बोर्ड में ज्यादातर यूज होने वाले लेटर्स को अलग-अलग रखा गया ताकि टाइपिंग के दौरान स्पीड में मामूली कमी की जा सके और की-बोर्ड को खराब होने से बचाया जा सके. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें