scorecardresearch
 

Pepsi Ad Gone Wrong: इनाम में फाइटर जेट देने का ऐलान! एक मजाक जो पेप्सी को पड़ गया भारी

Pepsi Ad Gone Wrong: साल 1996 में पेप्सी को अपने एक Ad की वजह से कानूनी लड़ाई का सामना करना पड़ा था. इस Ad में पेप्सी ने अपने कस्टमर्स को हैरियर जेट देने की बात कही थी. यहां पढ़िए कैसे हैरियर जेट देने के ऐलान से पेप्सी को कानूनी लड़ाई लड़नी पड़ी.

X
Pepsi Ad Gone Wrong (Representational Image)
Pepsi Ad Gone Wrong (Representational Image)

Pespi Ad Gone Wrong: अगर बात कोल्ड ड्रिंक्स की हो रही हो तो पेप्सी का जिक्र जरूर होता है. लेकिन क्या आपको पता है कि साल 1996 अगस्त के महीने में पेप्सी का एक कमर्शियल उसके लिए मुसीबत बन गया था. 90 के दशक के मध्य में पेप्सी-कोला अपने पेप्सी स्टफ प्रचार अभियान का प्रसारण कर रहा था, जब उसके एक विज्ञापन ने कानूनी विवाद खड़ा कर दिया था. आइए जानते हैं कैसे पेप्सी के एक ऐड ने उसके लिए मुसीबत खड़ी कर दी थी. 

क्या था Ad? 
पेप्सी के Ad के मुताबिक, लोगों को पेप्सी उत्पाद खरीदने थे,उसके बाद पेप्सी लेबल से प्वाइंट्स इकट्ठा करने थे. इन प्वाइंट्स के बदले पेप्सी ने लोगों को टी-शर्ट, धूप का चश्मा जैसे गिफ्ट्स देने की बात कही थी. लेकिन इसी Ad का आखिरी हिस्सा था जहां पेप्सी ने 7 मिलियन प्वाइंट्स के लिए एक हैरियर जेट देने की बात कही थी. इसी हैरियर जेट देने के ऐलान की वजह से पेप्सी कानूनी विवाद में फंस गई थी. 

आइए जानते हैं क्या हुआ था? 
पेप्सी के जेट देने के ऐलान ने 21 साल के जॉन लियोनार्ड का ध्यान खींचा. जॉन लियोनार्ड बिजनेस का छात्र था. लियोनार्ड ने उसके बाद पेप्सी की बॉटल पर ये भी छपा देखा कि पेप्सी लेबल की जगह पर लोग प्रत्येक दस सेंट के बदले पेप्सी पॉइंट खरीद सकते हैं. इसके बाद  लियोनार्ड ने पेप्सी प्वाइंट खरीदने के लिए पांच निवेशकों को उन्हें $700,000 देने के लिए राजी किया. 

इसके बाद  लियोनार्ड ने पेप्सी को 15 लेबल और एक चेक भेजा और अपने जेट का इंतजार करने लगा. लियोनार्ड को पेप्सी से रिप्लाई आया कि हैरियर की बात सिर्फ एक मजाक थी. इसके बाद लियोनार्ड ने  कानूनी कार्रवाई करने का फैसला किया. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें