scorecardresearch
 

UPSC CSE AIR1: बेटा बना टॉपर, किसान पिता ने कामयाबी पर कही ये बात

प्रदीप ने इस साल यूपीएससी के एग्जाम में देश पहला स्थान हासिल कर परिवार के साथ प्रदेश का नाम भी रोशन किया है. प्रदीप अपनी इस सफलता के पीछे अपनी कड़ी मेहनत, परिवार और दोस्तों के साथ के अलावा अपने पिता का खास रोल बताते हैं.

upsc result 2019 topper list प्रदीप सिंह ने किया टॉप upsc result 2019 topper list प्रदीप सिंह ने किया टॉप

कहते हैं अगर आप में जीत हासिल करने का जज्बा है तो किसी भी मुकाम को हासिल किया जा सकता है. ऐसे ही एक सपने को साकार कर दिखाया है सोनीपत के प्रदीप मलिक ने. प्रदीप ने इस साल यूपीएससी के एग्जाम में देश में पहला स्थान हासिल कर परिवार के साथ प्रदेश का नाम भी रोशन किया है. प्रदीप अपनी इस सफलता का श्रेय अपने परिवार और दोस्तों के अलावा अपनी कड़ी मेहनत को देते हैं.

प्रदीप सिंह ने अपनी तैयारी से जुड़ी जर्नी के बारे में कहा कि मेरी लाइफ में मेरे पिता जी ने मुझे बहुत मेंटल सपोर्ट किया है. मैंने जब कहा कि अब लगता है कि जॉब के साथ तैयारी नहीं कर पाऊंगा तो उन्होंने कहा कि अगर जज्बा है तो कर लोगे. उनकी इसी बात से मुझे प्रेरणा मिली जिससे मैंने दोबारा तैयारी की. इसके अलावा मैं अपनी फैमिली और फ्रेंड्स को भी क्रेडिट देना चाहता हूं जो मेरी इस जर्नी में मेरे साथ रहे.

इंजीनियर से IAS बनीं भ‍िलाई की सिमी करन, UPSC CSE में पाई 31वीं रैंक

बता दें कि प्रदीप ने 12वीं के बाद कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग की है. उसके बाद कस्टम में बतौर इंस्पेक्टर ज्वॉइन किया और पढ़ाई को जारी रखा. प्रदीप ने चौथी बार यूपीएससी का एग्जाम दिया है. जिसमें से दो बार वो मेन्स एग्जाम क्ल‍ीयर नहीं कर पाए थे. साल 2018 में प्रदीप ने यूपीएससी में 260 रैंक हासिल की और आईआरएस में ज्वॉइन किया. फिर आगे भी उन्होंने तैयारी जारी रखी और इस साल एग्जाम में प्रदीप ने देश में पहला स्थान हासिल किया है.

UPSC Result: प्रदीप के पिता ने घर बेचकर पढ़ाया, बेटा बना IAS

प्रदीप खुद एक किसान परिवार से हैं और अब एक अधिकारी के तौर पर किसानों और गरीब तबके के लिए काम करना चाहते हैं. प्रदीप ने कहा एक अधिकारी के तौर पर काफी चुनौती आएंगी लेकिन वो मेहनत से सबसे निपटेंगे.

प्रदीप के पिता सुखबीर बेटे की इस सफलता पर काफी खुश हैं. उनका कहना है कि अगर कड़ी मेहनत और ईमानदारी से आगे बढ़ा जाए तो किसी भी मुकाम को हासिल किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि माता-पिता को अपने बच्चों पर विश्वास करना चाहिए और उन्हें मौका देना चाहिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें