scorecardresearch
 

इंजीनियर से IAS बनीं भ‍िलाई की सिमी करन, UPSC CSE में पाई 31वीं रैंक

UPSC Result 2019: संघ लोक सेवा आयोग ने सिविल सर्विस परीक्षा-2019 का रिजल्ट जारी कर दिया है. इस परीक्षा में छत्तीसगढ़ भ‍िलाई की रहने वाली सिमी ने 31वीं रैंक हासिल की है.

सिमी करन (Twitter) सिमी करन (Twitter)

संघ लोक सेवा आयोग ने सिविल सर्विस परीक्षा-2019 का रिजल्ट मंगलवार को जारी कर दिया. इस परीक्षा में प्रदीप सिंह ने यूपीएससी सिविल सेवा (मेन्स) परीक्षा 2019 में AIR 1 रैंक हासिल की है. वहीं दूसरे स्थान पर जतिन किशोर और तीसरे स्थान पर प्रतिभा वर्मा रहीं. इस परीक्षा में छत्तीसगढ़ भ‍िलाई की रहने वाली सिमी करन ने 31वीं रैंक हासिल करके अपने जिले और प्रदेश का मान बढ़ाया है. आईएएस अवनीश शरण ने सिमी को ट्व‍िटर पर बधाई दी है.

देखें आईएएस अवनीश शरण का ट्वीट

बता दें कि सिमी ने इससे पहले आईआईटी मुंबई से बीटेक की परीक्षा पास की थी. इसके बाद वो लगातार यूपीएससी की तैयारी कर रही थीं. इस परीक्षा में बड़ी संख्या में छोटे शहरों के बच्चों ने भी सफलता हासिल करके दिखा दिया है कि सफलता के लिए संसाधन से ज्यादा मेहनत जरूरी है.

जानें टॉप 20 के नाम

1 प्रदीप सिंह

2 जतिन किशोर

3 प्रत‍िभा वर्मा

4 हिमांशु जैन

5 जयदेव सीएस

6 विशाखा यादव

7 गणेश कुमार भास्कर

8 अभ‍िषेक सर्राफ

9 रवि जैन

10 संजिता मोहपात्रा

11 मुकुल गोयल

12 अजय जैन

13 रौनक अग्रवाल

14 अनमोल जैन

15 नेहा प्रकाश भोसले

16 गुंजन सिंह

17 स्वाति शर्मा

18 लविश ओर्डिया

19 श्रेष्ठा अनुपम

20 नेहा बनर्जी

देखें रिजल्ट

इस डायरेक्ट लिंक से देखें पूरा रिजल्ट और टॉपर्स लिस्ट

बता दें कि यूपीएससी में प्रीलिम्स और मेन्स पास करने के बाद तीसरा पड़ाव इंटरव्यू का होता है. इस बार कोरोना काल होने के चलते यूपीएससी के कुछ इंटरव्यू स्थग‍ित कर दिए गए थे. बाद में यूपीएससी ने उन सभी अभ्यर्थ‍ियों को कई सुविधाएं दी थीं, जो इंटरव्यू में शामिल हुए थे.

UPSC ने कहा था कि लॉकडाउन के चलते क्योंकि रेल सेवा पूरी तरह चालू नहीं है, इसलिए आयोग ने एकबारगी उपाय के तौर पर पर्सनालिटी टेस्ट के लिए दिल्ली आने वाले कैंडिडेट्स को आने-जाने का मुआवजा देने का फैसला किया है.

जो कैंडिडेट्स नई दिल्ली स्थित आयोग के कार्यालय पहुंचे थे उन्हें यूपीएससी ने एक 'शील्ड किट' दी थी. इस किट में एक फेस मास्क, फेस शील्ड, सैनिटाइजर की एक बोतल और दस्ताने दिए थे. ये सभी इंतजाम कोरोना से बचाव के लिए किए गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें