scorecardresearch
 

UG Admission: CUET से ही होंगे सेंट स्टीफंस कॉलेज में एडमिशन, सुप्रीम कोर्ट से नहीं मिली राहत

UG Admission: सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि सेंट स्टीफंस कॉलेज जनरल कैटेगरी के छात्रों के लिए इंटरव्यू आयोजित नहीं कर सकता है. केवल सीयूईटी स्कोर के आधार पर डीयू के अंडरग्रेजुएट कोर्स के लिए एडमिशन देना चाहिए. बैंच ने यह भी साफ किया कि एडमिशन प्रक्रिया के अनुसार जो कार्रवाई की जाएगी वह याचिका के अंतिम परिणाम के अधीन होगी.

X
Supreme Court File Photo
Supreme Court File Photo

UG Admission: सेंट स्टीफंस कॉलेज में अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम कोर्सेज में एडमिशन मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली हाई कोर्ट के फैसले पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है. बुधवार, 19 अक्टूबर 2022 को सुप्रीम कोर्ट के फैसले से साफ हो गया है कि कॉलेज गैर-अल्पसंख्यक श्रेणी में कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (CUET) 2022 स्कोर के अनुसार बिना साक्षात्कार आयोजित किए छात्रों को यूजी कोर्सेज में दाखिला देगा. 

सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि सेंट स्टीफंस कॉलेज जनरल  कैटेगरी के छात्रों के लिए इंटरव्यू आयोजित नहीं कर सकता है. केवल सीयूईटी स्कोर के आधार पर डीयू के अंडरग्रेजुएट कोर्स के लिए एडमिशन देना चाहिए और कॉलेज द्वारा दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले पर रोक लगाने की याचिका को खारिज कर दिया. बैंच ने कहा, 'हमें फैसले के संचालन पर रोक लगाने का कोई कारण नहीं मिला. अंतरिम राहत के लिए आवेदन खारिज किया जाता है', बैंच ने यह भी साफ किया कि एडमिशन प्रोसेस के अनुसार जो कार्रवाई की जाएगी वह याचिका के अंतिम परिणाम के अधीन होगी.

दरअसल, अदालत दिल्ली उच्च न्यायालय के एक आदेश के खिलाफ सेंट स्टीफन कॉलेज द्वारा दायर विशेष अनुमति याचिका पर विचार कर रही थी, जिसमें गैर-ईसाई आवेदकों के लिए साक्षात्कार आयोजित करने से रोक दिया गया था. कॉलेज ऐसे उम्मीदवारों के लिए 85:15 फॉर्मूले का पालन करने पर जोर दे रहा है, जिसमें सीयूईटी के रिजल्ट को 85 प्रतिशत और अपने स्वयं के साक्षात्कार के लिए 15 प्रतिशत वेटेज देने पर जोर दिया जा रहा था. कॉलेज ने इस नीति का बचाव करने के लिए अल्पसंख्यक संस्थान के रूप में अपनी स्थिति का हवाला देते हुए दावा किया है कि यह प्रवेश के संबंध में खुद फैसला ले सकता है.

बता दें कि सेंट स्टीफेंस कालेज की याचिका में दिल्ली हाई कोर्ट के 12 सितंबर के आदेश को चुनौती दी गई थी जिसने स्नातक पाठ्यक्रमों में आवेदन करने वाले गैर-अल्पसंख्यक अभ्यर्थियों के लिए सीयूईटी-2022 के अंकों को शत प्रतिशत वेटेज देते हुए कॉलेज को नया प्रोस्पेक्टस जारी करने को कहा था. 

किस कोर्स की करना चाहते हैं पढ़ाई, हमें बताएं...

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें