scorecardresearch
 

INICET 2021 Postponed: सुप्रीम कोर्ट के आदेश के चलते परीक्षा स्‍थगित, देखें नई डेट की जानकारी

INICET 2021 Postponed: पहले यह परीक्षा मई में आयोजित होनी थी, जिसे आगे बढ़ाकर 16 जून कर दिया गया था. जूनियर डॉक्टरों के एक समूह ने परीक्षा स्थगित करने की मांग करते हुए शीर्ष अदालत का दरवाजा खटखटाया था.

INICET 2021, NEET PG 2021: INICET 2021, NEET PG 2021:
स्टोरी हाइलाइट्स
  • परीक्षा 16 जून काे आयोजित की जानी थी
  • एग्‍जाम अब एक महीने के लिए स्‍थगित किया गया है

INI CET 2021 Postponed: पोस्‍ट ग्रेजुएट मेडिकल कोर्सेज़ में एडमिशन के लिए आयोजित की जाने वाली INICET 2021 परीक्षा 'कम से कम 1 महीने के लिए' स्‍थगित कर दी गई है. सुप्रीम कोर्ट ने नेशनल मेडिकल काउंसिल और केंद्र सरकार से सवाल किया कि पोस्टग्रेजुएट मेडिकल कोर्स में प्रवेश के लिए INICET परीक्षा को स्थगित क्यों नहीं किया जा सकता है. INICET 5 AIIMS, 2 PGI, GIPMER और NIMHANS सहित उत्कृष्ट 12 संस्थानों में लगभग 800 सीटों पर एडमिशन के लिए आयोजित की जाती है.

पहले यह परीक्षा मई में आयोजित होनी थी, जिसे आगे बढ़ाकर 16 जून कर दिया गया था. जूनियर डॉक्टरों के एक समूह ने परीक्षा स्थगित करने की मांग करते हुए शीर्ष अदालत का दरवाजा खटखटाया था. शुक्रवार सुबह 11:40 बजे सुनवाई के समय डॉक्टरों का प्रतिनिधित्व करने वाले वरिष्ठ अधिवक्ता अरविंद दातार ने तर्क दिया, "प्रधानमंत्री ने घोषणा की थी कि NEET PG 2021 परीक्षा 4 महीने के लिए स्थगित कर दी जाएगी, और डॉक्टरों को 100 दिन की कोविड ड्यूटी लेने के लिए प्रोत्साहित किया था."

दातार ने कहा, "प्रधानमंत्री ने कोरोना महामारी के दौरान डॉक्टरों की उपलब्धता को बढ़ावा देने के फैसलों की घोषणा की थी. हमने 100 दिनों की ड्यूटी के लिए साइन-अप किया है, ग्रामीण क्षेत्रों में गए हैं. परीक्षा अचानक जून के लिए क्यों घोषित की गई थी? यह परीक्षा एक ही समय में क्यों नहीं हो सकती है. ज्यादातर छात्र INICET और NEET PG दोनों परीक्षाएं देते हैं."

इस तर्क को स्वीकार करते हुए जस्टिस इंदिरा बनर्जी और एमआर शाह की बेंच ने सरकार और NMC से जवाब मांगा कि परीक्षा को टाला क्यों नहीं जा सकता. बेंच ने पूछा, "जब NEET स्थगित है तो INICET क्यों आयोजित किया जा रहा है? कम से कम उन्हें तैयारी के लिए कुछ समय दें!"

NMC की ओर से अधिवक्ता दुष्यंत पाराशर ने तर्क दिया कि परीक्षा आयोजित करने में देरी "अभूतपूर्व स्थिति पैदा करेगी" क्योंकि अस्पतालों में कोई जूनियर डॉक्टर नहीं होगा. उन्‍होंने तर्क दिया, "जो डॉक्टर INICET के माध्यम से आते हैं, वे जूनियर डॉक्टर होते हैं जो वास्तव में मरीजों का इलाज करते हैं. अगर परीक्षा नहीं हुई तो अस्‍पतालों में कोई डॉक्टर नहीं होगा."

इस पर बेंच ने कहा, "लेकिन इन डॉक्टरों के पास परीक्षा की तैयारी के लिए पर्याप्त समय नहीं होगा क्योंकि वे कोविड ड्यूटी पर थे! आप सोमवार तक निर्णय लें और परीक्षा को स्‍थगित करें. परीक्षा 16 जून बुधवार को निर्धारित है. हर छात्र परेशानी में होगा." अदालत ने वकील को NMC और सरकार से निर्देश लेने को कहा है कि क्या INICET परीक्षा को "कम से कम एक महीने के लिए स्थगित किया जा सकता है".

पीठ ने वरिष्ठ रेजिडेंट डॉक्टरों द्वारा दायर एक याचिका को स्वीकार करने से इनकार कर दिया. MD प्रशिक्षण के अंतिम वर्ष के डॉक्‍टर्स ने परीक्षा को रद्द करने की मांग की थी. इस पर तर्क दिया गया है कि अंतिम वर्ष के एमडी छात्र, जो "वरिष्ठ रेजिडेंट डॉक्टर" हैं, जो "वास्तव में मरीजों का इलाज करते हैं" को उनकी अंतिम परीक्षा की छूट का लाभ दिया जाना चाहिए क्योंकि उनकी पढ़ाई कोरोना महामारी से बाधित हुई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें