scorecardresearch
 

औरैया में मिली विकास दुबे की लास्ट लोकेशन, मध्य प्रदेश भागने की आशंका

विकास की कॉल डिटेल में कुल 24 पुलिसवालों के नाम सामने आए हैं. सूत्रों के मुताबिक विकास दुबे से चौबेपुर थाने का एक दारोगा और दो सिपाहियों के लगातार संपर्क में रहने के साक्ष्य मिले हैं. शिवराजपुर थाने के भी कुछ सिपाही विकास दुबे के लगातार संपर्क में थे.

कानपुर के बिकरु गांव में घटनास्थल पर पुलिस (फोटो-पीटीआई) कानपुर के बिकरु गांव में घटनास्थल पर पुलिस (फोटो-पीटीआई)

  • बिकरू फायरिंग कांड की होगी मजिस्ट्रेट जांच
  • विकास की कॉल डिटेल में 24 पुलिस वालों के नाम
  • विकास दुबे से जुड़े सभी मुकदमों की समीक्षा
कुख्यात अपराधी विकास दुबे की तलाश में यूपी पुलिस ने दिन रात एक कर दिया है. सूत्रों के मुताबिक विकास दुबे की अंतिम लोकेशन उत्तर प्रदेश के औरैया में मिली है. औरेया मध्य प्रदेश से सटा हुआ है, ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि विकास दुबे एमपी की ओर भाग सकता है.

अब जब यूपी पुलिस ने इस वारदात की जांच शुरू की है तो कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आ रहे हैं. विकास की कॉल डिटेल में कुल 24 पुलिसवालों के नाम सामने आए हैं. सूत्रों के मुताबिक विकास दुबे के साथ चौबेपुर थाने का एक दारोगा और दो सिपाहियों के लगातार संपर्क में रहने के साक्ष्य मिले हैं. शिवराजपुर थाने के भी कुछ सिपाही विकास दुबे के लगातार संपर्क में थे.

ADM करेंगे जांच

इस बीच यूपी पुलिस ने बिकरू गांव एनकाउंटर की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं. इस केस की जांच ADM करेंगे.

विकास दुबे के पुराने मुकदमों की समीक्षा शुरू

यूपी पुलिस के 8 जवानों और अफसरों की हत्या की वजह बनने वाले विकास दुबे के पूरी कुंडली अब यूपी पुलिस खंगाल रही है. पुलिस ने विकास दुबे के सभी पुराने मुकदमों की समीक्षा शुरू कर दी है. इसकी सीधी निगरानी पुलिस मुख्यालय कर रहा है.

पढ़ें- कानपुर शूटआउट में एक और खुलासा, पुलिस रेड से पहले काट दी गई थी विकास दुबे के गांव की बिजली

इस बीच एक नई जानकारी ये सामने आई कि इस साल मार्च महीने में एसटीएफ ने पुलिस मुख्यालय में 25 दुर्दांत अपराधियों की एक सूची भेजी थी, हैरान करने वाली बात ये है कि इस लिस्ट में विकास दुबे का नाम नहीं था.

औरेया में मिली संदिग्ध कार

इस बीच यूपी के औरैया जिले के दिबियापुर इलाके में एक संदिग्ध कार मिली है. ये कार औरेया के एलजी गार्डन गेस्ट हाउस के पास मिली है. कार पर लखनऊ का नंबर है और इसकी ब्रांड फोर्ट की इको स्पोर्ट है. ये कार अमित दुबे नाम के किसी व्यक्ति के नाम रजिस्टर्ड है. सदर पुलिस इस संदिग्ध कार की जांच में जुट गई है.

वारदात की रात थी पार्टी, शाकाहारी भोजन का इंतजाम

पुलिस जांच में विकास दुबे से जुड़ी कई कहानियां सामने आ रही है. पुलिस के मुताबिक बिकरू गांव में विकास दुबे ने अपने साथियों को इकट्ठा करके रात के खाने का इंतजाम किया था. विकास ने अपने साथियों को फोन करके बुलाया और बैठकी की. पुलिस को जांच के दौरान विकास के घर से एक बड़े पतीले में करीब बीस लोगों के खाने भर का चावल और दाल से भरे हुए बर्तन मिले थे. इन बर्तनों में खाना बनकर तैयार था लेकिन किसी ने खाया नहीं था. विकास के घर में बाहर बनी एक कोठरी में खाना बनाने का इंतजाम किया गया था. यहां पर उसके ड्राईवर और साथियों ने खाना पकाया था. विकास दुबे के एक दो साथी को छोड़कर सभी ब्राह्मण थे. उनके हिसाब से शाकाहारी खाने का इंतजाम किया गया था.

लखनऊ स्थित मकान की नपाई

विकास दुबे के भाई दीप प्रकाश दुबे के लखनऊ स्थित एक मकान की नापी लखनऊ डेवलपमेंट अथॉरिटी ने की है. इस पर प्रतिक्रिया देते हुए दीप प्रकाश दुबे की पत्नी अंजलि दुबे का कहना है यह मकान उसके नाम से है और इसमें कोई गड़बड़ी नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें