scorecardresearch
 

कानपुरः यूपी पुलिस का बेरहम चेहरा बेनकाब, महिला को सड़क पर पीटा

खाकी की गुंडागर्दी को दर्शाने वाली यह वारदात कानपुर के पनकी इलाके की है. वीडियो की शुरुआत पनकी निवासी शाज़िया नाज़ अपने घर के बाहर खड़ी दिखाई दे रही है. वहां वो एक महिला पुलिसकर्मी के साथ बात करती दिख रही है.

पुलिस मामले की छानबीन कर रही है ( सांकेतिक तस्वीर) पुलिस मामले की छानबीन कर रही है ( सांकेतिक तस्वीर)

कानपुर में उत्तर प्रदेश पुलिस की बर्बरता का एक शर्मनाक मामला सामने आया है. जहां पुलिस ने बेरहमी के साथ एक महिला की सरेआम पिटाई कर दी. महिला को सरेआम सड़क पर पीटा गया. महिला बुरी तरह से घायल हो गई. जिसे बाद में अस्पताल में भर्ती कराया गया है. ये पूरी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है. अब इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

खाकी की गुंडागर्दी को दर्शाने वाली यह वारदात कानपुर के पनकी इलाके की है. वीडियो की शुरुआत पनकी निवासी शाज़िया नाज़ अपने घर के बाहर खड़ी दिखाई दे रही है. वहां वो एक महिला पुलिसकर्मी के साथ बात करती दिख रही है. वीडियो में दो पुरुष पुलिसकर्मी और एक महिला उप-निरीक्षक सहित तीन और पुलिसकर्मी भी देखे जा सकते हैं.

बातचीत के दौरान, एक महिला सिपाही शाज़िया को थप्पड़ मारते हुए देखी जा सकती है. पीड़िता शाजिया ने जब थप्पड़ का जवाब देने की कोशिश की तो वहां मौजूद दोनों महिला पुलिसकर्मियों ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी. उसे थप्पड़ मारे और खींचकर स्थानीय पुलिस स्टेशन तक ले गए.

वीडियो में पुलिसवाले सार्वजनिक तौर महिला को बार-बार थप्पड़ मारते भी देखे जा सकते हैं. जिसका स्थानीय अस्पताल में इलाज चल रहा है. शाज़िया ने आज तक को बताया कि मंगलवार को उसने एक बच्चे को पीटते हुए एक वेंडर को देखा था. वो उस बच्चे के बचाव में गई और उस वेंडर को थप्पड़ मार दिया.

उसी वेंडर ने शाजिया के घर पर पुलिस को बुलाया था और पुलिस वालों से शाजिया की बहस हो गई. इसी दौरान महिला पुलिसकर्मियों ने बड़ी बेरहमी से शाजिया की पिटाई कर दी. और उसे जबरदस्ती खींचकर पुलिस स्टेशन ले गए.

शाजिया के मुताबिक उसके हाथों में चोट आई हैं. अब उसका कहना है कि अगर आरोपी महिला पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं की गई तो वह पनकी पुलिस स्टेशन के बाहर जाकर आत्महत्या कर लेगी. शाजिया का कहना है कि उसे एक बच्चे को बचाने की सजा दी गई है, जिसके साथ बुरा हो रहा था. ये पूरी तरह से गलत है.

घटना का वीडियो वायरल हो जाने के बाद कानपुर (पश्चिम) के पुलिस अधीक्षक (SP) संजीव सुमन ने बताया कि डायल 100 पर दो परिवारों के बीच झगड़े की जानकारी मिली थी. इसके बाद स्थानीय पुलिस इलाके में गई थी. अब वहां लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की जांच की जाएगी और उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें