scorecardresearch
 

इश्क में नाकाम आशिक बना सीरियल किलर, पीछे पड़ी पूरे जिले की पुलिस

यूपी के बिजनौर जिले की पुलिस एक आशिक को तलाश रही है. वो आशिक जिसे इश्क ने कातिल बना दिया. दरअसल, वो शख्स एक लड़की से बेपनाह मोहब्बत करता था. उसके साथ जिंदगी बिताना चाहता था. लेकिन उसकी जिंदगी में कुछ और हो गया.

पुलिस इस कातिल की तलाश में सर्च ऑपरेशन चला रही है (फोटो- फेसबुक) पुलिस इस कातिल की तलाश में सर्च ऑपरेशन चला रही है (फोटो- फेसबुक)

  • एसएसपी के नेतृत्व में बड़ा सर्च ऑपरेशन
  • ड्रोन और खोजी कुत्तों की मदद से तलाश
  • प्रेमिका समेत तीन लोगों का कातिल
  • पुलिस ने किया 50 हजार का इनाम घोषित

वो एक पागल प्रेमी है. जिसे प्यार किया उसे हासिल नहीं कर सका. बस इसी बात ने उसे कातिल बना दिया. उसने अपनी मोहब्बत का कत्ल किया यानी अपनी प्रेमिका को ही मौत के घाट उतार दिया. उसका इंतकाम यहीं नहीं रुका. एक सप्ताह के भीतर उसने एक नहीं, दो नहीं बल्कि तीन लोगों को बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया. उस नाकाम आशिक ने एक-एक कर तीन लोगों की जान ले ली. मगर पुलिस है कि उस तक पहुंच ही नहीं पा रही है.

नाकाम आशिक का इंतकाम

यूपी के बिजनौर जिले की पुलिस एक आशिक को तलाश रही है. वो आशिक जिसे इश्क ने कातिल बना दिया. दरअसल, वो शख्स एक लड़की से बेपनाह मोहब्बत करता था. उसे जी जान से चाहता था. उसके साथ जिंदगी बिताना चाहता था. लेकिन लड़की के घरवालों ने उसकी शादी किसी और के साथ तय कर दी. लड़की ने घरवालों के दबाव में उस लड़के से नाता तोड़ लिया. ये बात उसे इतनी नागवार गुजरी कि उसने अपनी प्रेमिका को गोली मारकर मौत की नींद सुला दिया.

bijnore

प्रेमिका को गोलियों से भूना

मामला बिजनौर में बढ़ापुर के मोहल्ला नवमी का है. जहां रहने वाला अश्विनी उर्फ जॉनी दादा नामक युवक जुर्म की दुनिया से ताल्लुक रखता है. वो स्योहारा के गांव दौलताबाद की निवासी नितिका नामक एक लड़की से कथित रूप से प्यार करता था. लेकिन घरवालों ने उसका रिश्ता कहीं और कर दिया. जिसके चलते 30 सितंबर को उसने अपनी मोहब्बत को गोलियों से भून डाला.

रंजिश में भी दो लोगों का कत्ल

बात यहीं खत्म नहीं होती. प्रेमिका का कत्ल करने से पहले ही उसका दिमाग घूम चुका था. उसके सिर पर खून सवार था. इससे पहले कि वो प्रेमिका की जान लेता, उसने 26 सितंबर को भाजपा के पूर्व नगर अध्यक्ष के बेटे राहुल और भतीजे कृष्णा की भी रंजिश के चलते दिनदहाड़े गोलियों से भून डाला. उन्हें मौत के घाट उतार दिया था.

कातिल की तलाश में सर्च ऑपरेशन

एक बाद एक तीन हत्याओं से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया. पुलिस तभी से अश्विनी उर्फ जॉनी दादा की तलाश में लगी हुई थी. हत्यारोपी जॉनी को पकड़ने के लिए बिजनौर पुलिस ने जंगल में जाल बिछा दिया. पुलिस को सूचना मिली थी कि कातिल खेतों से होते हुए स्योहारा के जंगल में जाकर छुप गया है. पुलिस ने उसे तलाश करने के लिए कई टीम बनाई और सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया.

ssp

ड्रोन और खोजी कुत्ते भी नहीं लगा सके सुराग

पुलिस सिरफिरे कातिल को किसी भी हाल में पकड़ना चाहती है. लिहाजा पुलिस ने उसे तलाश करने के लिए ड्रोन कैमरा का इस्तेमाल किया. साथ ही ज़मीन पर खोजी कुत्ते भी उतार दिए. बाहर से फोर्स बुलाकर उस कातिल की तलाश की जा रही है. लेकिन इतनी कवायद के बाद भी जॉनी का कोई सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा.

टिकटॉक पर एक्टिव है आरोपी

छानबीन के दौरान पुलिस को पता चला कि जॉनी टिकटॉक पर भी काफी चर्चित है. उसने भाजपा नेता के बेटे और भतीजे की हत्या करने से पहले फेसबुक पर एक टिकटॉक वीडियो डाला था. जिसमें उसने साफ कहा था कि जिस को मारना है, उसको मारना है. वह चाहे कहीं भी जाकर छुप जाए. इस तरह की कई पोस्ट उसके फेसबुक पर हैं.

मर्डर से पहले फेसबुक पर डाली थी पोस्ट

उसने फेसबुक पर अपने खई ऐसे फोटो पोस्ट किए हैं, जिनमें वह एक शातिर बदमाश और डॉन के रूप में अपने आप को प्रदर्शित कर रहा है. बिजनौर के एसएसपी संजीव त्यागी ने बताया कि 5 दिन में अपनी प्रेमिका सहित 3 लोगों की हत्या करने वाले सीरियल किलर जॉनी पर 50 हजार का इनाम घोषित कर दिया गया है.

पुलिस का ऑपरेशन जारी

जंगल में उसकी तलाश ड्रोन ओर डॉग स्क्वॉयड की मदद से की जा रही है. लेकिन अभी तक उसका कोई पता नहीं लगा है. पुलिस जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लेगी. जॉनी के फरार हो जाने से इलाके में दहशत भी बनी हुई है. जब तक वह गिरफ्तार नहीं हो जाता, लोगों को राहत नहीं मिलेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें