scorecardresearch
 

सुदीक्षा भाटी की मौत के मामले में SIT ने शुरू की जांच, परिजनों के लिए बयान

एसआईटी की टीम बुधवार को ग्रेटर नोएडा पहुंची. एसआईटी ने घटना के संबंध में सुदीक्षा भाटी के परिजनों से बात कर जानकारी ली और उनके बयान दर्ज किए.

सुदीक्षा भाटी (फाइल फोटोः Facebook/Sudeeksha Bhati) सुदीक्षा भाटी (फाइल फोटोः Facebook/Sudeeksha Bhati)

  • परिजनों से मिला सपा नेताओं का प्रतिनिधिमंडल
  • सरकार से की सहायता और न्याय दिलाने की मांग

ग्रेटर नोएडा की निवासी छात्रा सुदीक्षा भाटी की मौत के मामले की जांच के लिए गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने तहकीकात शुरू कर दी है. एसआईटी की टीम बुधवार को ग्रेटर नोएडा पहुंची. एसआईटी ने घटना के संबंध में सुदीक्षा भाटी के परिजनों से बात कर जानकारी ली और उनके बयान दर्ज किए.

एसआईटी परिजनों की ओर से मनचलों के पीछा करने के कारण हादसा होने की बात कहे जाने समेत अन्य बिंदुओं के आधार पर भी तहकीकात कर रही है. एसआईटी के बाद प्रदेश के मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी का प्रतिनिधिमंडल भी सुदीक्षा भाटी के घर पहुंचा.

बुलंदशहर: बुलेट सवार मनचले कर रहे थे पीछा, US में पढ़ रही छात्रा की एक्सीडेंट में मौत

सपा प्रतिनिधिमंडल ने भी परिजनों से घटना के संबंध में जानकारी ली और ढांढस बंधाया. सपा नेताओं ने परिवार को यह आश्वासन भी दिया कि दुख की इस घड़ी में समाजवादी पार्टी उनके साथ है. सपा प्रतिनिधिमंडल ने प्रदेश सरकार से सुदीक्षा के परिजनों को सहायता देने की मांग की है.

बुलंदशहर: सुदीक्षा के साथ क्या हुआ था, कैसे गई जान, चाचा ने सुनाई हादसे की पूरी कहानी

सपा प्रतिनिधियों ने सुदीक्षा को न्याय दिलाने की मांग भी सरकार से की है. गौरतलब है कि अमेरिका में पढ़ाई करने वाली सुदीक्षा की बाइक दुर्घटना में मौत हो गई थी. सुदीक्षा के परिजनों ने आरोप लगाया था कि वह जब अपने चाचा के साथ मामा के यहां जा रही थी, तब बुलेट सवार दो मनचले उसका पीछा कर रहे थे. वे कभी बाइक से आगे निकलते, तो कभी पीछे कर लेते.

बुलंदशहरः सुदीक्षा भाटी की मौत का मामला, जांच के लिए एसआईटी का गठन

आरोपों के मुताबिक मनचले स्टंट करने लगे और इसी बीच चाचा की बाइक बुलेट से जा भिड़ी. इस हादसे में सुदीक्षा की मौत हो गई थी. वहीं, पुलिस का दावा था कि बाइक सुदीक्षा का नाबालिग भाई चला रहा था. इसलिए परिजनों की ओर से चाचा को आगे किया जा रहा है. उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग ने इस मामले में हुई कार्रवाई के संबंध में जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक से रिपोर्ट मांगी थी.

सुदीक्षा केसः UP महिला आयोग ने DM-SP से मांगी रिपोर्ट, NCW ने DGP को लिखा पत्र

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने भी यूपी के पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर निष्पक्ष जांच कराने की मांग की थी. बाद में सुदीक्षा के पिता ने भी बुलेट सवार दो अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कराया था. चौतरफा दबाव के बाद पुलिस ने इस मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें