scorecardresearch
 

सागरपुर: सरेआम पिता-पुत्र को स्कूटी सवार बदमाशों ने मारी गोली, दोनों की हालत गंभीर

चश्मदीदों ने पुलिस को बताया है कि हमलावारों की तरफ से लूटपाट की कोशिश नहीं की गई थी.वहीं पुलिस को भी वारदात के पीछे आपसी रंजिश वजह मान रही है.

पुलिस कर रही मामले की छानबीन कर रही है पुलिस कर रही मामले की छानबीन कर रही है

  • पुलिस को वारदात के पीछे आपसी रंजिश का शक
  • घटना को अंजाम देकर आरोपी मौके से फरार

दिल्ली के सागरपुर इलाके से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है जहां तीन बदमाशों ने सरेआम पिता और उनके बेटे को गोली मार दी. वारदात को अंजाम देकर अपराधी मौके से फरार हो गए. पुलिस ने मौके पर पहुंच कर दोनों घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है. पुलिस ने फिलहाल मामला दर्ज कर लिया है और मामले की जांच कर रही है.

बताया जा रहा है कि गोली मारने वाले बदमाशों की संख्या तीन थी. लोगों ने बताया की एक आरोपी तो स्कूटी पर ही बैठा रहा जबकि पीछे बैठे दो लड़के स्कूटी से उतरे और सड़क के किनारे टहल रहे पिता और बेटे पर बेहद पास से कई राउंड फायर किए. इसके बाद घटना को अंजाम देकर सभी आरोपी मौके से फरार हो गए. जानकारी के मुताबिक गोली से घायल पिता का नाम राजेंद्र है तो वहीं उनके बेटे का नाम रवि है. राजेंद्र की उम्र तकरीबन 50 साल और उनके बेटे रवि की उम्र 25 साल के आसपास बताई जा रही है.

गोली लगने से दोनों पिता और पुत्र गंभीर रूप से घायल हो गए. लोगों ने इस बात की जानकारी पुलिस को दी. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और गंभीर रूप से घायल दोनों पिता-पुत्र को पास के अस्पताल में भर्ती कराया.

ये भी पढ़ें- भजनपुरा केस: पैसों की वजह से 5 लोगों की हत्या, रिश्तेदार निकला हत्यारा

यह वारदात गुरुवार शाम 6 बजे की है, जब राजेंद्र और उनका बेटा रवि घर के पास ही सागरपुर फ्लाई ओवर की तरफ टहलते हुए जा रहे थे. तभी उनके बगल में एक स्कूटी आकर रूकती है, उस स्कूटी पर तीन लड़के बैठे थे. इसके पहले की दोनों कुछ समझ पाते, स्कूटी पर पीछे की तरफ बैठे दो लड़के उतरे और दोनों आरोपियों ने बेहद करीब से पिता और पुत्र पर दनादन कई राउंड गोली चला दी.

बताया जा रहा है कि जिस वक्त सरेआम इस वारदात को अंजाम दिया गया तब वहां पर अच्छी खासी भीड़ थी. उस वक्त भी आरोपियों को पकड़े जाने का बिलकुल डर नहीं था. वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों मौके से फरार हो गए.

ये भी पढ़ें- दिल्ली के भजनपुरा में घर से 5 शव बरामद, एक हफ्ते पुरानी हैं लाशें

वहीं भीड़ में मौजूद किसी शख्स ने पुलिस को कॉल कर दिया, जिसके बाद पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची. जिसके बाद दोनों  घायलों को पास के अस्पताल में पहुंचाया गया. दोनों घायलों की हालत गंभीर बनी हुई है. पुलिस को शक है कि इस वारदात के पीछे आपसी रंजिश हो सकती है.

चश्मदीदों ने पुलिस को बताया है कि हमलावारों की तरफ से लूटपाट की कोशिश नहीं की गई थी. जानकारी के मुताबिक राजेंद्र और उसका बेटा सागरपुर में ही किराए के एक मकान में रहते थे, जिस पर ताला लगा था. पुलिस राजेंद्र के परिवार वालों के बारे में पता लगाने की कोशिश कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें