scorecardresearch
 

ऐप पर समलैंगिकों से अश्लील चैट, फिर ठगी करते थे बदमाश, 6 आरोपी गिरफ्तार

पुलिस का कहना है कि शुरुआती जांच में शिकायतकर्ता सामने आए थे लेकिन जब वारदात में शामिल इन बदमाशों की पहचान के लिए जब उन लोगों को बुलाया गया तो बदनामी और अपने रुतबे के उजागर होने के डर से ऐसे कई शिकायतकर्ता इस मामले से किनारा करने लगे हैं.

समलैंगिंक मोबाइल ऐप के जरिए लोगों से मारपीट और ठगी समलैंगिंक मोबाइल ऐप के जरिए लोगों से मारपीट और ठगी

  • यौन उत्पीड़न की बदनामी से शिकायतकर्ता पीछे हटे
  • पुलिस के लिए अपराधियों को सज़ा दिलवाना चुनौतीपूर्ण

गुरुग्राम पुलिस ने ऐसे मामले का खुलासा किया है जहां आरोपी मोबाइल ऐप के जरिये समलैंगिंकों से अश्लील चैटिंग कर हाई प्रोफाइल लोगों से मारपीट कर उन्हें लूट का शिकार बनाते थे. पुलिस ने बदमाशों को गिरफ्तार कर बड़े नेटवर्क का खुलासा किया है.

पुलिस को दी गयी शिकायत के मुताबिक मोबाइल एप ग्रइंडर के जरिए पहले समलैंगिक बन समलैंगिकों से अश्लील चैटिंग की जाती थी. इसके बाद फिर शिकार को चिन्हित कर उसे फंसाया जाता. इसके बाद एनपीआर और सीपीआर से सटे इलाकों में बुलाकर समलैंगिंकों के साथ मारपीट की जाती और उसे जलील किया जाता. यही नहीं कई बार उसका अश्लील वीडियो बना कर उसे ब्लैकमेल तक किया जाता था.

बताया जा रहा है कि ऐसी ही कई शिकायतें गुरुग्राम के बादशाहपुर और भोंडसी थानों में दी गयीं थीं. बहरहाल पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखतें हुए केस को सेक्टर 39 क्राइम ब्रांच को सौंपा था. क्राइम ब्रांच ने इस हाई प्रोफाइल मामले में बादशाहपुर और इसके आसपास के 5 से 6 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा किया है.

यह भी पढ़ें: हरियाणा में खनन घोटाले मामले पर कांग्रेस का हमला, बोली- होनी चाहिए जांच

जानकारी के मुताबिक खेल-खेल में समलैंगिंक मोबाइल ऐप से जुड़ना और फिर शातिराना तरीके से समलैंगिंक लोगों को अपने बताए हुए पते पर बुलाकर मारपीट कर लूटपाट करने की घटनाऐं बढ़ती जा रही थीं. वहीं वारदात में शामिल आरोपियों के लिए ये सब खेल बनता जा रहा था.

gurgaon-13-feb-grindr-app-loot-mamla-pic-1_021420032434.jpeg

पुलिस सूत्रों की मानें तो वारदात में शामिल बदमाश इस मोबाइल ऐप से सिर्फ मजे लेने के लिए जुड़े थे. लेकिन फिर समलैंगिकों के इस मोबाइल ऐप पर इन लड़कों को ट्रांसजेंडर समझ ऑफर करना शुरू कर दिया. शुरुआत में तो इन आरोपियों ने इसे बस एक खेल समझा लेकिन धीरे-धीरे वारदात में शामिल बदमाश इस खेल के खिलाड़ी बन लूट, मारपीट, अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल तक की वारदातों को अंजाम देने लगे.

यह भी पढ़ें: हरियाणा: किसानों को बाद व्यापारियों को CM खट्टर की सौगात, मिलेगा 5 लाख का बीमा

पुलिस की माने तो शुरुआत में तो इस मामले शिकायतकर्ता सामने आए थे लेकिन जब वारदात में शामिल इन बदमाशों की पहचान के लिए इन्हें बुलाया जाने लगा तो बदनामी और अपने रुतबे के उजागर होने से ऐसे कई शिकायतकर्ता इस मामले से किनारा तक करने लगे. जिसके चलते ऐसे बदमाशों को सजा दिलवाने तक में पुलिस को मुश्किल पेश आ रही है.

gurgaon-13-feb-grindr-app-loot-mamla-pic-4_021420032501.jpeg

वहीं, पुलिस ने इस मामले में भोंडसी के रहने वाले आरोपियों में 25 वर्षीय संजय, 19 वर्षीय सचिन, 35 वर्षीय नरसिंह और वारदात में शामिल बादशाहपुर थाना के अंतर्गत रहने वाले हजारी और सोहना के रहने वाले सुमित को गिरफ्तार कर मामले का खुलासा किया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें