scorecardresearch
 

घरवालों ने नहीं दिलाया सिमकार्ड तो 12 साल के बच्चे ने लगा ली फांसी

स्कूल से घर आते ही पारस अपनी मां से मोबाइल फोन के लिए सिमकार्ड की मांग करने लगा. उसने बहुत जिद की, लेकिन मां ने उसकी एक नहीं सुनी और परिजनों ने उसे सिमकार्ड नहीं दिलाया. हारकर पारस अपने कमरे में चला गया.

पुलिस मामले की छानबीन कर रही है (फाइल फोटो) पुलिस मामले की छानबीन कर रही है (फाइल फोटो)

पंजाब के लुधियाना में खुदकुशी का एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है, जहां महज 12 साल के एक बच्चे ने फांसी का फंदा लगाकर जान दे दी. इससे पहले बच्चे ने घरवालों से मोबाइल सिमकार्ड की मांग की थी. जब परिजनों ने उसकी बात नहीं मानी तो उसने ये खौफनाक कदम उठा लिया.

दिल दहला देने वाला यह मामला लुधियाना की भगवान दास कॉलोनी का है. जहां रहने वाले सुखविंदर सब्जी मंडी के एक बड़े आढ़ती हैं. उनका 12 साल का बेटा पारस बाईपास के एक नामी स्कूल में पढ़ता था. वह आठवीं कक्षा का छात्र था. बुधवार को वह रोज की तरह दोपहर के वक्त स्कूल से घर आया.

घर आते ही पारस अपनी मां से मोबाइल फोन के लिए सिमकार्ड की मांग करने लगा. उसने बहुत जिद की लेकिन मां ने उसकी एक नहीं सुनी और परिजनों ने उसे सिमकार्ड नहीं दिलाया. हारकर पारस अपने कमरे में चला गया. उसकी मां कीचन में खाना बना रही थी. खाना बन जाने पर जब पारस की मां उसे बुलाने के लिए कमरे में गई तो कमरे का मंजर देखकर उसके होश उड़ गए. सामने 12 साल का बेटा पारस पंखे पर फांसी से लटका हुआ था.

मां ने शोर मचा दिया. पास पड़ोस के लोग भी मौके पर आ गए. पारस को फंदे से उतार कर नजदीकी अस्पताल ले जाया गया. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. पुलिस भी सूचना मिलने पर अस्पताल जा पहुंची और बच्चे के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया.

पुलिस ने बताया कि इससे पहले भी पारस ने सिम कार्ड की मांग की थी. हालांकि घरवालों का कहना है कि उसे सिमकार्ड दिलाया गया था. लेकिन उसने सिम तोड़ दिया था. अब वह फिर से नए सिमकार्ड की मांग कर रहा था. शहर के थाना सलेम टाबरी की पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें