scorecardresearch
 

'अपराध का रास्ता छोड़ चुकी हूं', राजस्थान में राजू ठेठ हत्याकांड पर बोली लेडी डॉन अनुराधा

गैंगस्टर राजू ठेठ और आनंदपाल गैंग की दुश्मनी पुरानी है. राजू ठेठ ने आनंदपाल पर हमला किया था. जिसमें वो बाल-बाल बच गया था. बाद में पुलिस एनकाउंटर में आनंदपाल ढेर हो गया. लेकिन इस मौत के बाद भी दुश्मनी खत्म नहीं हुई थी.

X
लेडी डॉन अनुराधा और गैंगस्टर राजू ठेठ
लेडी डॉन अनुराधा और गैंगस्टर राजू ठेठ

राजस्थान के सीकर में बदले का गैंगवार हुआ है. इस गैंगवॉर में गैंगस्टर राजू ठेठ की गोली मार कर हत्या कर दी गई. इसे पुलिस एनकाउंटर में मारे गए गैंग्स्टर आनंदपाल की मौत का बदला माना जा रहा है. राजू ठेठ और आनंदपाल के बीच रंजिश चलती थी. आनंदपाल के मारे जाने के बाद उसकी गर्लफ्रेंड लेडी डॉन अनुराधा ने लॉरेंस बिश्नोई और काला जठेड़ी से हाथ मिला लिया था. माना जा रहा है कि लॉरेंस और काला जठेड़ी गैंग ने मिलकर राजू ठेठ की हत्या करवाई है. 

इस बीच लेडी डॉन अनुराधा ने इस हत्याकांड में अपनी भूमिका से साफ इनकार किया है. उसका कहना है कि वह अपराध का रास्ता छोड़ चुकी है. अनुराधा ने कहा है कि मेरा इस हत्याकांड से कोई लेना देना नहीं है. मैं अब अपराध का रास्ता छोड़ चुकी हूं. 

हालांकि साल 2021 में दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने 5 साल से पुलिस को चकमा देकर फरार चल रहे 5 लाख के इनामी कुख्यात गैंगस्टर संदीप उर्फ काला जठेड़ी को कई राज्यों में सर्च ऑपरेशन के बाद गिरफ्तार किया था. काला जठेड़ी के साथ अनुराधा भी मौजूद थी. लिहाजा अनुराधा को भी दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया था.

जांच एजेंसियों के डोजियर के मुताबिक माना यही जाता है कि आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद आनंदपाल का गैंग वही चला रही है. हाल ही में जब NIA ने दिल्ली-हरियाणा-पंजाब के गैंगस्टर के ठिकानों पर रेड की थी तो NIA की टीम अनुराधा के सोनीपत के घर भी पहुंची थी. अनुराधा के ठिकानों पर NIA ने सर्च ऑपरेशन चलाया था और हिरासत में लेकर पूछताछ की थी.

बता दें कि गैंगस्टर राजू ठेठ और आनंदपाल गैंग की दुश्मनी पुरानी है. राजू ठेठ ने आनंदपाल पर हमला किया था. जिसमें वो बाल-बाल बच गया था. बाद में पुलिस एनकाउंटर में आनंदपाल ढेर हो गया. लेकिन इस मौत के बाद भी दुश्मनी खत्म नहीं हुई थी. कथित रूप से आनंदपाल का गैंग चला रही अनुराधा ने अपना बदला लेने के लिए लॉरेंस बिश्नोई और काला जठेड़ी से हाथ मिलाया.

बताया जा रहा है कि लॉरेंस गैंग ने इसी दोस्ती को मजबूत करने के लिए आनंदपाल के दुश्मन राजू ठेहट टारगेट बनाया और अजरबैजान में बैठे रोहित ने हरियाणा से शूटर्स को हायर कर राजू पर हमला करवा दिया. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें