scorecardresearch
 

गैंगस्टर विकास दुबे का सुराग नहीं, तलाश में पुलिस, जानें अबतक क्या हुआ

कानपुर से सटे बिकरू गांव में गुरुवार और शुक्रवार की दरमियानी रात पुलिस और विकास दुबे के गिरोह के बीच खूनी मुठभेड़ हुई. पुलिस की टीम विकास दुबे के यहां रेड करने पहुंची थी. पुलिस पर हमला किया गया जिसमें 8 जवान शहीद हो गए. अब पुलिस ने विकास दुबे के एक गुर्गे को गिरफ्तार कर लिया है.

प्रशासन ने विकास दुबे का घर जमींदोज कर दिया (फोटो-PTI) प्रशासन ने विकास दुबे का घर जमींदोज कर दिया (फोटो-PTI)

  • विकास के गुर्गों ने 8 पुलिसकर्मियों की कर दी थी हत्या
  • यूपी पुलिस विकास की तलाश में दिन रात दे रही दबिश

उत्तर प्रदेश के कानपुर में कुख्यात अपराधी विकास दुबे की तलाश में पुलिस दिन रात दबिश दे रही है. बताया जा रहा है कि विकास दुबे की अंतिम लोकेशन उत्तर प्रदेश के औरैया में मिली है. औरेया मध्य प्रदेश से सटा हुआ है, ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि विकास दुबे एमपी की ओर भाग सकता है.

इससे पहले प्रशासन ने विकास दुबे कहीं नेपाल न भाग जाए इसलिए सीमा पर अलर्ट कर दिया था. बीते गुरुवार की देर रात जब विकास के गुर्गों ने 8 पुलिसवालों की हत्या की, तब से ही पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई है. लेकिन अभी उसके बारे में कुछ पता नहीं चल पाया है. हालांकि, पुलिस ने विकास दुबे के एक गुर्गे को दबोच लिया है. विकास का तुरंत पता लगाने के मकसद से उसकी जानकारी देने वाले को इनाम की राशि बढ़ा दी है. फिलहाल, गुरुवार से अब तक के घटनाक्रम पर नजर डालते हैं.

कानपुर में बदमाश को पकड़ने गई पुलिस टीम पर फायरिंग, 8 पुलिसकर्मी शहीद

कानपुर से सटे बिकरू गांव में गुरुवार और शुक्रवार की दरमियानी रात पुलिस और विकास दुबे के गिरोह के बीच खूनी मुठभेड़ हुई. पुलिस की टीम विकास दुबे के यहां रेड करने पहुंची थी. इसकी जानकारी विकास को लग गई और उसने अपने घर से पहले जेसीबी मशीन लगाकर पुलिस का रास्ता बंद कर दिया. जैसे ही पुलिसवाले आगे बढ़े उसके गुर्गों ने तीन तरफ से फायरिंग शुरू कर दी जिसमें 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए. वहीं इस मुठभेड़ में गिरोह के दो हमलावार भी मारे गए.

कानपुर मुठभेड़ के बाद एक्शनः दर्जनों लोग हिरासत में, 500 मोबाइल सर्विलांस पर

कानपुर मुठभेड़ में एक पुलिस उपाधीक्षक समेत 8 पुलिसकर्मियों के शहीद होने के बाद पुलिस ने एक्शन लेना शुरू किया. पुलिस ने मोस्ट वॉन्टेड विकास दुबे के गांव से दर्जनों लोगों को हिरासत में लिया. उनसे पूछताछ शुरू की गई. करीब पांच सौ मोबाइल फोन नंबर सर्विलांस पर लगाए गए.

विकास दुबे पर 50 हजार का इनाम, मां बोली- बहुत गलत काम किया, मार दे पुलिस

कुख्यात अपराधी विकास दुबे की जानकारी देने पर पुलिस ने 50 हजार रुपये का इनाम रखा. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर मुठभेड़ में घायल हुए पुलिसकमियों से मुलाकात की. कानपुर पहुंचे सीएम योगी ने कहा कि जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. उन्होंने शहीदों के परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का ऐलान किया. इसके अलावा असाधारण पेंशन भी देने की उन्होंने घोषणा की. सीएम योगी ने कहा कि शहीदों के परिजनों को आर्थिक मदद के तौर पर एक-एक करोड़ रुपये दिया जाएगा.

शहीदों के परिजनों को 1 करोड़ देगी सरकार, योगी बोले- किसी को बख्शेंगे नहीं

इसके बाद शुक्रवार को कानपुर प्रशासन ने विकास दुबे पर और सख्त कार्रवाई की. प्रशासन ने विकास दुबे की जेसीबी मशीन से ही उसका घर तहस-नहस कर दिया. घर पर मौजूद गाड़ियां कुचल दीं. ट्रैक्टर के भी टुकड़े-टुकड़े कर दिए. इसके अलावा प्रशासन, विकास दुबे की सारी पॉपर्टी अटैच करने की तैयारी कर रहा है. प्रशासन उसकी सभी संपत्तियों की जांच करेगा. साथ ही सभी बैंक अकाउंट्स भी सीज किए जाएंगे.

विकास दुबे का अब तक सुराग नहीं, तलाश में जुटीं 20 टीमें, नेपाल बॉर्डर पर भी नजर

यूपी पुलिस कानपुर के गैंगगेस्टर विकास दुबे की तलाश में जुटी हुई है. हालांकि अभी तक उसका कोई सुराग नहीं मिल पाया है. लिहाजा, कानपुर शूटआउट के मामले में पुलिस शुक्रवार की पूरी रात छापेमारी करती रही. पुलिस की करीब 20 टीमें अलग अलग जिलों में दबिश देती रहीं. ये वो जगहें थीं जहां पर विकास दुबे के रिश्तेदार और परिचित रहते हैं. पुलिस ने इस मामले मे 12 और लोगों को हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ की जा रही है. विकास दुबे के नेपाल भागने की भी आशंका है, लिहाजा लखीमपुर खीरी जिले की पुलिस भी अलर्ट पर है.

कानपुर मुठभेड़ के बाद विकास दुबे पर एक्शन, JCB से गिराया गया घर

चौबेपुर के SHO विनय तिवारी सस्पेंड, विकास दुबे से मिलीभगत का आरोप

कानपुर गोलीकांड मामले में कानपुर पुलिस ने शुक्रवार को एक और बड़ी कार्रवाई की. पुलिस ने इस मामले में चौबेपुर के थानाध्यक्ष विनय तिवारी को सस्पेंड कर दिया है. कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने ये कार्रवाई की है. बता दें कि पुलिस की अबतक की जांच में ये बात सामने आई है कि पुलिस से ही जुड़े कुछ अफसरों ने अपराधी विकास दुबे को पुलिस रेड की पूर्व सूचना दे दी थी.

कानपुर शूटआउट के मास्टरमाइंड विकास दुबे का अब तक सुराग नहीं, पता बताने पर 1 लाख का इनाम

पुलिस विकास दुबे को पकड़ने के लिए लगातार छापेमारी कर रही है. विकास दुबे पर पुलिस ने इनाम की राशि भी बढ़ा दी है. पुलिस ने विकास दुबे पर इनाम की राशि 50 हजार से बढ़ाकर 1 लाख रुपये कर दी है. पुलिस ने वारदात में शामिल अन्य 18 आरोपियों पर 25-25 हजार का इनाम रखा है. इस बीच विकास दुबे का गुर्गा दया शंकर रविवार देर मुठभेड़ के बाद पुलिस की गिरफ्त में आ गया. दया शंकर ने खुलासा किया है कि पुलिस की रेड से पहले ही विकास दुबे के पास थाने से कॉल आ गया था.

कानपुर केस में गिरफ्तारी, मुठभेड़ के बाद गिरफ्त में विकास दुबे गैंग का दयाशंकर

कानपुर पुलिस और दयाशंकर के बीच आज तड़के 4.40 पर कल्याणपुर थाना क्षेत्र में मुठभेड़ हुई थी. इस दौरान दयाशंकर को पैर में गोली लगी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें