scorecardresearch
 

हैदराबाद एनकाउंटर मामले में साइबराबाद पुलिस के खिलाफ एक और शिकायत

हैदराबाद गैंगरेप और मर्डर केस में चारों आरोपियों के पुलिस एनकाउटंर का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. साइबराबाद पुलिस के खिलाफ एक और शिकायत की गई है. सामाजिक संगठन नीनू सैथम ने साइबराबाद के कमिश्नर वीसी सज्जनार और बाकी पुलिसकर्मियों के खिलाफ फेक एनकाउंटर का मामला दर्ज करने की मांग की है.

हैदराबाद एनकाउंटर की जानकारी देती पुलिस (फोटो-एएनआई) हैदराबाद एनकाउंटर की जानकारी देती पुलिस (फोटो-एएनआई)

  • साइबराबाद पुलिस के खिलाफ शिकायत
  • हैदराबाद एनकाउंटर की जांच की मांग

हैदराबाद गैंगरेप और मर्डर केस में चारों आरोपियों के पुलिस एनकाउटंर का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. साइबराबाद पुलिस के खिलाफ एक और शिकायत की गई है. सामाजिक संगठन नीनू सैथम ने साइबराबाद के कमिश्नर वीसी सज्जनार और बाकी पुलिसकर्मियों के खिलाफ फेक एनकाउंटर का मामला दर्ज करने की मांग की है.

तेलंगाना हाईकोर्ट ने हैदराबाद एनकाउंटर का स्वत: संज्ञान लिया था और इस मामले की सुनवाई करने की बात कही थी. इसके तहत सोमवार को ढाई बजे तेलंगाना हाईकोर्ट में इस मामले की सुनवाई होगी. बता दें कि 6 दिसंबर को तड़के हैदराबाद पुलिस गैंगरेप के चार आरोपियों को घटनास्थल पर ले गई थी. यहां पर पुलिस क्राइम सीन को रिक्रिएट करने वाली थी, और घटना को समझने वाली थी. पुलिस के मुताबिक इसी दौरान आरोपियों ने पुलिस वालों पर हमलाकर दिया. पुलिस की जवाबी कार्रवाई में चारों आरोपी घटनास्थल पर ही मारे गए.  

NHRC भी कर रही है जांच

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग भी इस मामले की जांच कर रही है. NHRC की एक फैक्ट फाइंडिंग टीम ने इस मामले की जांच शनिवार को शुरू कर दी. हैदराबाद आने के बाद टीम सीधे महबूबनगर शहर पहुंची, जहां उन्होंने सरकारी अस्पताल के शवगृह में जाकर मुठभेड़ में मारे गए आरोपियों के शवों की जांच की.

शव पर आए निशान का परीक्षण

टीम ने शवों पर गोलियों से बने घावों की जांच की और शव का परीक्षण करने वाले फोरेंसिक विशेषज्ञों से भी बात की. अस्पताल प्रशासन ने शुक्रवार देर रात को हुए शव परीक्षण का वीडियो भी टीम को दिखाया. आयोग के जांच अधिकारियों ने संबंधित अन्य जानकारियों को प्रशासन से भी प्राप्त किया। उन्होंने बाद में चार मृतकों के परिवारों के बयानों को भी दर्ज किया. इसके बाद टीम हैदराबाद से लगभग 50 किलोमीटर दूर शादनगर के पास चटनपल्ली गई, जहां पुलिस के साथ मुठभेड़ में ये चारों आरोपी मारे गए थे.

आयोग ने शुक्रवार को हुई इस घटना का संज्ञान लेते हुए इस पर जांच के आदेश दिए. आयोग ने कहा है कि यह मुठभेड़ एक चिंता का विषय है और इसकी सावधानी से जांच किए जाने की जरूरत है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें