scorecardresearch
 

गाजियाबादः अवैध संबंध की वजह से हुई थी महिला की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

पुलिस के अनुसार महिला आरोपी से अपने परिवार के लिए पैसे मांगा करती थी, जिसकी वजह से दोनों के बीच तनाव था. आरोपी ने पैसे देने के बहाने महिला को बुलाया और धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

  • इंदिरापुरम इलाके में मिला था महिला का शव
  • परिजनों ने दर्ज कराया था गुमशुदगी का मामला

गाजियाबाद के इंदिरापुरम थाना क्षेत्र के कनावनी इलाके में 9 अगस्त को अज्ञात महिला का शव मिला था. अज्ञात महिला की शिनाख्त करने के साथ ही पुलिस ने हत्या के इस मामले का पर्दाफाश कर दिया है. पुलिस ने आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के मुताबिक महिला की हत्या अवैध संबंधों में हुई. आरोपी ने जुर्म कबूल कर लिया है.

पुलिस के मुताबिक महिला की हत्या में प्रयुक्त धारदार हथियार भी बरामद कर लिया गया है. गिरफ्तार आरोपी के मृतक महिला से संबंध थे. पुलिस के अनुसार महिला आरोपी से अपने परिवार के लिए पैसे मांगा करती थी, जिसकी वजह से दोनों के बीच तनाव था. आरोपी ने पैसे देने के बहाने महिला को बुलाया और धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी. महिला के शव को नहर किनारे फेक आरोपी फरार हो गया.

बताया जाता है कि मकनपुर के निवासी राहुल ने अपनी बहन माधुरी उर्फ पलक के 6 अगस्त से लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. वह नोएडा के जगत फॉर्म हाउस में संचालित एक स्पॉ सेंटर में थेरेपी का काम करती थी. उसके भाई की ओर से दी गई तहरीर के मुताबिक वह 6 अगस्त को नोएडा से घर आते समय लापता हो गई थी. रिश्तेदारी में और परिचितों के यहां पता करने के बावजूद जब उसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिली तो भाई ने इंदिरापुरम थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई.

ghaziabad_murder_081120010816.jpgदिवंगत माधुरी उर्फ पलक (फाइल फोटो)

9 अगस्त को ही देर शाम थाना इंदिरापुरम इलाके की नहर में एक अज्ञात महिला का शव बरामद हुआ, जिसकी गला रेत कर हत्या की गई थी. पुलिस ने गुमशुदगी के आधार पर महिला के भाई राहुल और अन्य सदस्यों को शिनाख्त के लिए बुलाया. राहुल ने महिला की शिनाख्त अपनी बहन के रूप में की. पुलिस ने इस मामले का खुलासा करने के लिए विशेष टीम बनाई. परिजनों से पूछताछ में मुस्तफा नाम के एक शख्स से कुछ दिन पहले पलक की कहासुनी होने की जानकारी मिली. परिजनों ने यह भी बताया कि वह सबसे ज्यादा बात भी मुस्तफा से ही करती थी. परिजनों ने मुस्तफा के खिलाफ ही हत्या का मामला दर्ज कराया.

ये भी पढ़ें- पाकिस्तान से आए 11 हिन्दू शरणार्थियों को जहर का इंजेक्शन देकर मारा गया!

इस संबंध में गाजियाबाद के पुलिस अधीक्षक (एसपी) सिटी मनीष कुमार मिश्रा ने बताया कि मुस्तफा को गिरफ्तार कर गहन पूछताछ की गई तो उसने जुर्म स्वीकार कर लिया. पूछताछ में उसने बताया कि पलक के पति की काफी समय पहले मौत हो गई थी. उसके काफी समय से घनिष्ठ संबंध थे. वह अपने बच्चों की पढ़ाई और अन्य खर्चों के लिए लगातार पैसों की मांग कर रही थी.

एसपी के मुताबिक मुस्तफा ने बताया कि पलक जब उस पर लगातार पैसे के लिए दबाव बनाती रही, तो उसने उसे रास्ते से हटाने की योजना बना ली. 6 अगस्त को जब वह नोएडा से अपने घर लौट रही थी, उसने पैसे लेने के लिए बुलाया और चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी. हत्या में प्रयुक्त चाकू बरामद कर ली गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें