scorecardresearch
 

दिल्ली: गैंगवार में सरेराह चलाईं गोलियां, राहगीर महिला सहित 3 की मौत

फायरिंग में दोनों ही गैंग के एक-एक बदमाश की मौत हो गई, जबकि एक आम महिला को भी अपनी जान गंवानी पड़ी. बताया जा रहा है कि यह फायरिंग कुख्यात टिलू गैंग और गोगी गैंग के बीच चल रहे गैंगवार का नतीजा है.

दिल्ली में गैंगवार दिल्ली में गैंगवार

राजधानी दिल्ली में सोमवार को बदमाशों ने सरेराह फायरिंग कर दी. बुराड़ी इलाके के संत नगर में हुई इस फायरिंग में एक महिला सहित तीन लोगों की मौत हो गई. पुलिस के मुताबिक, गैंगवार के तहत यह फायरिंग हुई. बताया जा रहा है कि यह फायरिंग कुख्यात टिलू गैंग और गोगी गैंग के बीच चल रहे गैंगवार का नतीजा है.

पुलिस के मुताबिक, फायरिंग में दोनों ही गैंग के एक-एक बदमाश की मौत हो गई, जबकि एक आम महिला को भी अपनी जान गंवानी पड़ी. दोनों गैंग के बीच ये कोई पहली बार नहीं है कि गैंगवार हुई है.

इससे पहले भी गोनों गैंगवार के बीच हुए खूनी खेल में दिल्ली के लोग अपनी जान गवा चुके है. अब आपको बताते हैं कि आखिर इन दोनों गैंग के बीच में क्या दुश्मनी है और क्यों ये दोनों एकदूसरे की जान के दुश्मन बने हुए हैं.

दरअसल इन दोनों के बीच पिछले 5 साल से पारिवारिक वर्चस्व की लड़ाई चल रही है. इस गैंगवार में अबतक कई लोगों की मौत हो चुकी है. जिसमें कई निर्दोष भी मारे गए हैं. सुनील उर्फ टिलू दिल्ली के अलीपुर इलाके का रहने वाला है और इस समय तिहाड़ जेल में बंद है.

टिलू के ऊपर हत्या समेत कई संगीन मामले दर्ज हैं. टिल्लू एक बार पुलिस कस्टडी से भी फरार हो चुका है. लेकिन पुलिस ने उसे फिर पकड़ लिया था. वहीं जितेंद्र उर्फ गोगी भी दिल्ली के अलीपुर इलाके का ही रहने वाला है. गोगी पर हत्या, लूट, हत्या के प्रयास से लेकर कई संगीन मामले दर्ज हैं.

पुलिस ने बताया कि सोमवार को बुराड़ी में गैंगवार के तहत हुई गोलीबारी में गोगी खुद मौजूद था और जेल में बंद टिलू गैंग के लोगों को मारने आया था. दोनों के बीच इससे पहले दिल्ली के बाहरी इलाके रोहिणी में भी कई वारदाते हो चुकी हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें