scorecardresearch
 

दिल्ली हिंसाः आरोपी शाहरुख की वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी, कोर्ट ने ठुकराई थी याचिका

कड़कड़डूमा कोर्ट ने दिल्ली हिंसा मामले में जांच अधिकारी की फिजिकल मेजरमेंट की मांग के विरोध में दायर शाहरुख पठान की याचिका को मंगलवार को खारिज कर दिया था और बुधवार को उसे जांच के लिए FSL ले जाने का निर्देश दिया था.

दिल्ली हिंसा के आरोपियों में से एक शाहरुख पठान दिल्ली हिंसा के आरोपियों में से एक शाहरुख पठान

  • जाफराबाद में एक पुलिस वाले पर बंदूक तानने का है आरोप
  • शाहरुख 3 मार्च को यूपी के शामली से गिरफ्तार किया गया
दिल्ली हिंसा के आरोपियों में से एक शाहरुख पठान को आज बुधवार को रोहिणी स्थित एफएसएल (FSL) में फिजिकल मेजरमेंट, वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी के लिए लाया गया. कल मंगलवार को कोर्ट ने फिजिकल मेजरमेंट जांच का विरोध करने वाली याचिका खारिज की थी.

कड़कड़डूमा कोर्ट ने जांच अधिकारी की फिजिकल मेजरमेंट की मांग के विरोध में दायर शाहरुख पठान की याचिका को मंगलवार को खारिज कर दिया था और बुधवार को उसे जांच के लिए FSL ले जाने का निर्देश दिया था.

रोहिणी की एफएसएल लैब में आज हुए फिजिकल मेजरमेंट, वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी टेस्ट से पुलिस यह साबित करने की कोशिश करेगी कि जाफराबाद इलाके में पुलिस पर बंदूक तानने वाला शख्स वही शाहरुख पठान हैं, जिसे दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश किया गया था.

इसे भी पढ़ें --- भय बिन होए न प्रीत... शक्तिशाली भारत ही समृद्ध और शांत भारत बनेगाः PM मोदी

एफएसएल में होने वाला यह टेस्ट कोर्ट में अपराधी की सही शिनाख्त के लिए बेहद महत्वपूर्ण साबित होता है. जिस दौरान शाहरुख पठान ने दिल्ली पुलिसकर्मी पर बंदूक तानी थी, उस दौरान के वीडियो और सीसीटीवी फुटेज का मिलान एफएसएल लैब में शाहरुख पठान की गई आज की वीडियोग्राफी से मिलान किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें --- अयोध्या: भूमि पूजन कर पीएम मोदी बोले- राम मंदिर से निकलेगा भाईचारे का संदेश

दिल्ली हिंसा के मुख्य आरोपी शाहरुख पठान को 3 मार्च को क्राइम ब्रांच ने उत्तर प्रदेश के शामली से गिरफ्तार किया था. शाहरुख के पास से दिल्ली पुलिस घटना के समय इस्तेमाल किया गया पिस्टल भी बरामद कर चुकी है जो उसने कांस्टेबल दीपक दहिया पर तानी थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें