scorecardresearch
 

BSES के अधिकारी बन करते थे जबरन वसूली, दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की नारकोटिक्स टीम ने जबरन वसूली करने वालों के एक मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है. पुलिस ने इसमें दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. आरोपी बीएसईएस के विजिलेंस अधिकारी बनकर जबरन वसूली करते थे. ये रिहायशी और व्यवसायिक बिल्डिंग के मीटर चेक करते थे. आरोपी खुद को बीएसईएस विजिलेंस टीम का हिस्सा बताते थे. इनके पास से नकली आई कार्ड और और कई चीजें बरामद हुई हैं.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

दिल्ली पुलिस की नारकोटिक्स टीम ने जबरन वसूली करने वालों के एक मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है. पुलिस ने इसमें दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. आरोपी बीएसईएस के विजिलेंस अधिकारी बनकर जबरन वसूली करते थे. ये रिहायशी और व्यवसायिक बिल्डिंग के मीटर चेक करते थे. आरोपी खुद को बीएसईएस विजिलेंस टीम का हिस्सा बताते थे. इनके पास से नकली आई कार्ड और और कई चीजें बरामद हुई हैं.

पुलिस को इस बारे में सूचना मिली थी कि एक गैंग बिजली उपभोक्ताओं को निशाना बनाता है. वह बीएसईएस विजिलेंस टीम के नकली अधिकारी बनकर जाते और बिजली मीटर में कोई न कोई खामी बता देते थे. इसके बाद वे घरों में लगा हुआ बिजली का मीटर भी उखाड़ ले जाते थे. इसके बाद वे उपभोक्ताओं को भारी पेनाल्टी को लेकर डराते और पैसे वसूलते थे.

जो लोग पैसे दे देते थे, वे कुछ दिन बाद आकर उनका मीटर वापस दे जाते थे. जो लोग पैसे नहीं देते थे, उनके भी मीटर ये लोग लौटा देते थे. ज्यादतर लोगों ने इस बारे में कोई शिकायत नहीं कराई और मामला वहीं रफा-दफा करा लिया. कुछ लोगों ने सिर्फ मीटर चोरी होने की शिकायत दर्ज कराई. जबकि कुछ लोगों ने नए मीटर के लिए अप्लाई करने को लेकर मीटर खोने की शिकायत की.

इस बीच पुलिस को जानकारी मिली कि गैंग लीडर प्रशांत अपने साथियों के साथ एमबी रोड स्थित एशियन मार्केट आने वाला है. इसके बाद पुलिस ने जाल बिछाया और गैंग के बॉस सहित दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया.  आरोपियों की पहचान बृजेश शर्मा (30) और संजय कुमार (43) के रूप में हुई है. आरोपी बृजेश शर्मा पहले भी इसी तरह के आरोप में शामिल रह चुका है. उस पर आरके पुरम में एफआईआर भी दर्ज हुई थी.

पुलिस को इन लोगों के पास से 3 मोबाइल, एक ऐसेंट कार, एक मोटरसाइकिल, एक चुराया हुआ बिजली का मीटर, विभिन्न इलेक्ट्रिसिटी मीटर की टूटी हुई 42 सील, बीएसईएस के नकली आईकार्ड्स, सील तोड़ने में इस्तेमाल होने वाला उपकरण, टेस्टर, पेचकस और अन्य दस्तावेज बरामद हुए हैं. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें