scorecardresearch
 

मोतीनगर हत्याकांडः BJP समर्थकों ने हत्या रोपियो के लिए मांगी फांसी

मोतीनगर हत्याकांड के विरोध में भारतीय जनता पार्टी के समर्थकों ने प्रोटेस्ट किया. परिवार के साथ सैकड़ो लोगों ने कैंडल जलाकर हत्यारोपियो के लिए फांसी की मांग की.

प्रोटेस्ट में शामिल लोग प्रोटेस्ट में शामिल लोग

राजधानी दिल्ली के मोती नगर में बेटी से छेडख़ानी का विरोध करने पर पिता ध्रुव त्यागी की बेरहमी से हत्या करने के मामले में सियासत तेज हो गई है. ध्रुव त्यागी की बेरहमी से की गई हत्या के विरोध में भारतीय जनता पार्टी के समर्थकों ने प्रोटेस्ट किया. सैकड़ों की संख्या में इकट्ठा हुए बीजेपी समर्थकों के बीच पीड़ित परिवार भी शामिल हुआ. परिवार के साथ सैकड़ों लोगों ने कैंडल जलाई जलाकर  हत्यारोपियो के लिए फांसी की मांग की. इस विरोध प्रदर्शन में आम आदमी पार्टी के बागी विधायक कपिल मिश्रा भी शामिल हुए.                                              

कपिल ने कहा, 'हम सियासत नहीं कर रहे. दिल्ली में सड़क पर ये चौथा मर्डर है. लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री तुष्टिकरण की राजनीति करते हैं.' विरोध में शामिल अभिमन्यु त्यागी ने कहा, 'ध्रुव त्यागी को न्याय दो. क्या अवार्ड वापसी गैंग त्यागी के लिए आवाज उठाएगा?'

प्रदर्शनकारियों के हाथों में पोस्टर बैनर थे, जिस पर लिखा हुआ था- 'ध्रुव त्यागी को न्याय दो'. इस जघन्य हत्याकांड के बाद मौके की संवेदनशीलता को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया. यह प्रदर्शनकारी कृषि भवन बस स्टैंड के करीब  केंद्रीय सचिवालय  मेट्रो स्टेशन के गेट नंबर 3 पर इकट्ठा हुए.                                                                                                 

दोषियों को फांसी देने की आवाज बुलंद करते हुए प्रदर्शनकारी इंडिया गेट की तरफ बढ़े ही थे कि राजपथ पर पुलिस ने सबको बैरिकेड लगाकर रोक दिया. पुलिस द्वारा रोके जाने के बाद सभी प्रदर्शनकारी साइड रोड से होकर लॉन पर पहुंचे. दो रेड लाइट पार करने के बाद सभी इंडिया गेट के करीब पहुच गए. अब प्रदर्शनकारियों और इंडिया गेट के बीच सिर्फ एक रेड लाइट का फर्क बचा था. तभी भारी संख्या में मौजूद पुलिस की तरफ से घोषणा की गई कि मौजूदा बैरिकेड से आगे न जाएं क्योंकि वहाँ धारा 144 लगाई गई है. इसके बाद प्रदर्शनकारी वहीं रुक गए. प्रदर्शनकारियों की तरफ से बार बार ध्रुव त्यागी अमर रहे नारे लगाए गए.

इन सब के बीच बसई दारापुर में एक महा पंचायत बुलाई गई है. इसमें  71 गावों के त्यागी समुदाय के लोग शामिल होंगे. आपको बता दें कि पुलिस ने इस मामले में 2 नाबालिगों समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें