scorecardresearch
 

कोरोना: लॉकडाउन में लाठी-डंडे से नहीं, हाथ जोड़कर लोगों को समझा रही बिहार पुलिस

अपनी ड्यूटी के दौरान नवीन कुमार झा लगातार लोगों के सामने हाथ जोड़कर उन्हें सड़क पर ना निकलने की अपील करते हुए वापस भेज रहे हैं.

लोगों से सड़क पर न निकलने की अपील (Photo- Aajtak) लोगों से सड़क पर न निकलने की अपील (Photo- Aajtak)

  • लॉकडाउन के बाद भी सड़क पर निकलने से बाज नहीं आ रहे लोग
  • हाथ जोड़कर उन्हें वापस भेजते दिख रहे सब-इंस्पेक्टर नवीन कुमार

लॉकडाउन के दौरान अनावश्यक सड़क पर उतरने वाले लोगों को बिहार पुलिस काफी जगहों पर बल प्रयोग कर उन्हें वापस घर जाने के लिए कह रही है. इससे बिहार पुलिस की छवि ऐसी बन गई है जैसे कि लाठी-डंडे के बिना लोगों को समझाना मुश्किल है.

हालांकि, बिहार पुलिस का एक मानवीय चेहरा भी लोगों के सामने है जहां अनावश्यक सड़क पर उतरने वाले लोगों के ऊपर बल प्रयोग न कर उन्हें हाथ जोड़कर समझाया जा रहा है और वापस अपने घर भेजा जा रहा है.

राजधानी पटना के कोतवाली थाना में सब-इंस्पेक्टर नवीन कुमार झा ऐसे ही कुछ पुलिसकर्मियों में से एक हैं जो लाठी डंडे के बल पर नहीं, बल्कि सड़क पर उतरने वाले लोगों को हाथ जोड़कर समझाते दिख रहे हैं.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्लिक करें

दरअसल, देश में लॉकडाउन लागू होने के बाद से ही नवीन कुमार झा की ड्यूटी पटना के इनकम टैक्स चौराहे पर लगी हुई है, जहां पर वे लगातार अनावश्यक सड़क पर उतरने वाले लोगों को वापस भेज रहे हैं.

अपनी ड्यूटी के दौरान नवीन कुमार झा लगातार ऐसे लोगों के सामने हाथ जोड़कर उन्हें समझाते नजर आ रहे हैं जो बिना किसी काम के सड़कों पर तफरी मारने उतर जाते हैं.

सब इंस्पेक्टर नवीन कुमार झा का कहना है, 'मेरा हमेशा से मानना रहा है कि लाठी-डंडे की बदौलत नहीं, बल्कि लोगों को प्यार से समझाना ज्यादा बेहतर होता है. मैं ड्यूटी के दौरान लगातार लोगों से यही हाथ जोड़ कर अपील करता हूं कि वह बिना मतलब के सड़क पर ना उतरें.'

ये भी पढ़ें- राजस्थान: लॉकडाउन में इंदौर से गांव पहुंचे पिता-पुत्र, निकले कोरोना पॉजिटिव

ये भी पढ़ें- भारत को कोरोना वायरस से मिल सकती है राहत, मौसम का वार वायरस को करेगा बर्बाद!

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें